Wednesday , December 13 2017

राहुल गांधी से कानूनी जंग लड़ने को तैयार: स्वामी

नई दिल्ली, ०३ नवंबर: राहुल गांधी -सोनिया गांधी पर जनता पार्टी के सदर सुब्रामण्यम स्वामी के इल्ज़ामों की सियासत गर्म हो गई है। अपने इल्ज़ामों पर कायम सुब्रामण्यम स्वामी ने कांग्रेस लीडर के नोटिस पर चुनौती दी कि राहुल गांधी को खत भेज

नई दिल्ली, ०३ नवंबर: राहुल गांधी -सोनिया गांधी पर जनता पार्टी के सदर सुब्रामण्यम स्वामी के इल्ज़ामों की सियासत गर्म हो गई है। अपने इल्ज़ामों पर कायम सुब्रामण्यम स्वामी ने कांग्रेस लीडर के नोटिस पर चुनौती दी कि राहुल गांधी को खत भेजने के बजाय अदालत में जाकर उनके खिलाफ तौहीन का मामला दाखिल करना चाहिए।

इधर, बी जे पी ने गांधी खानदान पर स्वामी के इल्ज़ामों में सयासी चिंगारी लगा दी है। पार्टी ने कहा कि कांग्रेस को स्वामी के इल्ज़ामों पर आवाम को जवाब देना चाहिए।

स्वामी गांधी खानदान पर लगाए इल्ज़ामो पर कायम हैं। स्वामी ने कहा कि उन्हें राहुल गांधी या उनके वकील की ओर से अब तक कोई खत नहीं मिला है। राहुल गांधी को सलाह देते हुए स्वामी ने कहा कि उन्हें खत लिखने की बजाए अदालत में जाकर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए।

स्वामी ने कहा कि वह राहुल के साथ अदालत में लड़ने को तैयार हैं। इधर, इस मामले में स्वामी के हक में बी जे पी भी कूद पड़ी है।

बी जे पी लीडर व राज्यसभा में अपोजिशन के लीडर अरुण जेटली ने कहा कि कांग्रेस को इस बात का जवाब देना चाहिए कि उसने अब बंद हो चुके नेशनल हेराल्ड को चलाने वाली एसोसिएट जर्नल को 90 करोड़ रुपये की अदायगी की थी कि नहीं।

अगर यह इल्ज़ाम सही है तो यह इंतेखाब और टैक्स से मुताल्लिक कानूनों के खिलाफ है।

बी जे पी के ही एक दूसरे लीडर बलवीर पुंज ने कहा कि इन इल्ज़ामों के सामने आने के बाद कांग्रेस सदर् सोनिया गांधी और जनरल राहुल गांधी को खुद ही इनकी मुनसिफाना तहकीकात के हुक्म देना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं होना अफसोस का मौजू है।

TOPPOPULARRECENT