रिपोर्ट- खाना बर्बाद करने करने के मामले में यह मुस्लिम देश है एक नंबर स्थान पर!

रिपोर्ट- खाना बर्बाद करने करने के मामले में यह मुस्लिम देश है एक नंबर स्थान पर!
Click for full image

पर्यावरण, जल और कृषि मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सऊदी अरब खाना बर्बाद करने में दुनिया में नंबर एक स्थान पर है। रिपोर्ट से पता चला है कि उत्पादित लगभग 30 प्रतिशत सालाना 49 अरब सऊदी रियाल से ज्यादा का खाना बर्बाद होता है।

अगर हम दुनिया के औसतन खाने की बर्बादी की बात करें तो दुनिया भर में 115 किलो होता है जबकि सऊदी हर साल औसतन 250 किलो खाना बर्बाद करता है। सऊदी के लोगों को अक्सर पार्टी करते हुए देखा जाता है. ऐसे में डिनर पार्टियों, शादियों, रेस्तरां और होटल बफेट में सबसे ज्यादा खाना बर्बाद किया जाता है।

सऊदी अरब में दुनिया में अनाज की सबसे अधिक खपत है जहां औसत नागरिक प्रति व्यक्ति 145 किलो के औसत की तुलना में सालाना 158 किलोग्राम का उपभोग करता है। इस महीने के अंत में, शौरा परिषद खाने की बर्बादी के लिए कानून के प्रस्ताव की समीक्षा करने की योजना बना रही है। पवित्र शहर में खाने की बर्बादी ना हो सकें।

कानून में खाने की बर्बादी के संबंध में व्यक्तियों और संगठनों पर जुर्माना शामिल होगा, जैसे अधूरे प्लेटों को छोड़ने वाले रेस्तरां यात्रियों पर शुल्क लागू करना होगा।

तभी सऊदी के हालातों को बेहतर किया जा सकता है। आपको बता दें की करीब 60-70 पहले सऊदी के लोगों के पास खाने को कुछ नहीं रहता है और वह भूखे-प्यासे रेगिस्तान में खाने की तलाश करते थे लेकिन जब आज सऊदी दुनिया के सबसे शक्तिशाली देशों में शुमार ही तो आज यहाँ खाने की कद्र नहीं की जा रही है।

शौरा परिषद की सामाजिक मामलों की समिति भी मार्गदर्शन और जागरूकता अभियानों की पेशकश करके कहने की बर्बादी को सीमित करने के लिए एक राष्ट्रीय केंद्र स्थापित करने का प्रस्ताव रखती है।

वर्तमान में, वहां कोई समान कानून नहीं है जिसके चलते अगर कोई शख्स खाना प्प्बर्बाद करता है तो उसपर जुर्माना लगाया जा सके।

सऊदी खाद्य के सीईओ अब्दुल्लाह अल दरबाह के मुताबिक, खाने की बर्बादी के कुछ प्रमुख कारण समाज में कम जागरूकता हैं। वहीँ सऊदी खाद्य बैंक ने 360 स्वयंसेवकों द्वारा जरूरतमंद परिवारों को 1,740,000 भोजन उपलब्ध कराने की अपनी नवीनतम पहल रमजान की शुरुआत के बाद से घोषणा की। पूरे साल, संगठन प्रतिदिन औसतन 9, 000 भोजन बचाता है।

अब तक यह 6 मिलियन भोजन परोसा गया है। होटल, खाद्य अदालतों, शादियों, और अन्य अवसरों पर उनकी यात्राओं ने अब तक लगभग 6 मिलियन खाना बचाया है।

साभार- ‘वर्ल्ड न्यूज अरेबीया’

Top Stories