Wednesday , December 13 2017

रियाद में शिखर सम्मेलन आईएसआईएस के खिलाफ मदद मांगेंगे ओबामा

रियाद: अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने आज सऊदी अरब में खाड़ी नेताओं से मुलाकात की ताकि आईएस ग्रुप के खिलाफ अभियान में शिद्दत पैदा की जा सके। बराक ओबामा का यह अमेरिका के सबसे महत्वपूर्ण सहयोगी देश का अमलन अंतिम यात्रा भी हो सकता है। ओबामा ने इस मौके पर छ: क्षेत्रीय नेताओं सहित सऊदी अरब के प्रधान शाह सलमान के साथ तस्वीर लिया।

राजभवन में इस सम्मेलन में चार घंटे तक चर्चा हुई। अपने इस दौरे के अवसर पर राष्ट्रपति ओबामा ‘जिनकी समयावधि के अब केवल नौ महीने बाकी रह गए हैं’ अरब के सुन्नी देशों की नाराजगी भी दूर करने की कोशिश कर रहे हैं। ये देश अमेरिका ईरान की दिशा झुकाव पर थोड़ा नाराज हैं।

यह शिखर सम्मेलन ऐसे समय में हो रही है जब अमेरिका ने यह सूचना दी है कि आईएस के आतंकवादियों के खिलाफ प्रगति हुई है। इस ग्रुप‌ ने इराक और सीरिया में व्यापक क्षेत्र पर कब्जा कर लिया है। आईएस के खिलाफ अमेरिका के नेतृत्व में होने वाली गतिविधियों में सऊदी अरब और अन्य क्षेत्र के अरब देश भी शामिल हैं।

आईएस ग्रुप‌ के खिलाफ हमलों में तीव्रता को जारी रखने के उद्देश्य से डीफ़ैंस सैक्रेटरी एश्टन कार्टरने जो बारक ओबामा के साथ रियाद‌ में हैं ऐलान किया कि उनका देश इराक को अधिक बलों और अपाचे हेलीकाप्टर रवाना करेगा ताकि आईएस के ख़िलाफ लडाई मिलों जारी रह सके। अमेरिका चाहता है कि जिन शहरों को आईएस के कब्जे से वापस लिया जा चुका है वहां भी सिरे निर्माण जाएं। एश्टन कार्टर ने कल कहा था कि खाड़ी देशों को इराक में आर्थिक और राजनीतिक रूप से अधिक प्रभावी भूमिका निभाने की जरूरत है क्योंकि इराक गंभीर वित्तीय और तोड़फोड़ संकट का शिकार है। एश्टन कार्टर ने खाड़ी सहयोग परिषद के अपने समकक्ष मंत्रियों रक्षा से मुलाकात के बाद यह राय व्यक्त की थी।

TOPPOPULARRECENT