Saturday , December 16 2017

रियासती इन्तेखाबात के बाद अकेली पड जाएगी कांग्रेस

कांग्रेस के विजय‌ वाड़ा रुकन पार्लियामेंट लगड़ा पाटी राजगोपाल ने तेलंगाना मसले पर ख़ुद अपनी कांग्रेस पार्टी और मर्कज़ी हुकूमत को सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाया और इल्ज़ाम आइद किया कि कांग्रेस पार्टी इस मसले पर इलाक़ाई जमात जैसा रवै

कांग्रेस के विजय‌ वाड़ा रुकन पार्लियामेंट लगड़ा पाटी राजगोपाल ने तेलंगाना मसले पर ख़ुद अपनी कांग्रेस पार्टी और मर्कज़ी हुकूमत को सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाया और इल्ज़ाम आइद किया कि कांग्रेस पार्टी इस मसले पर इलाक़ाई जमात जैसा रवैय्या इख़तियार कर रही है। उन्होंने कहा कि रियासत को तक़सीम करने का फैसला कांग्रेस की 125 साला तारीख की सब से बड़ी ग़लती है।

आंध्र प्रदेश जर्नलिस्ट्स फ़ोर्म के ज़ेरे एहतिमाम सहाफ़त से मुलाक़ात प्रोग्राम में हिस्सा लेते हुए राजगोपाल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी दूसरी और इलाक़ाई जमातों जैसा रवैय्या इख़तियार कर रही है। राजगोपाल मुत्तहदा आंध्र के कट्टर हामी हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी सिर्फ़ सियासी मुफ़ादात के लिए रियासत को तक़सीम करने का फैसला कर रही है।

उन्होंने इल्ज़ाम आइद किया कि कांग्रेस ने एक तरफ़ तो अलैहदगी पसंद जमात टी आर एस से साज़ बाज़ कर लिया है और दूसरी तरफ़ वो जगन मोहन रेड्डी से भी हाथ मिला रही है। रियासत की तक़सीम के ताल्लुक़ से पार्टी के फैसले का इल्म होने पर वो ख़ाली अलज़हन होगए।

उन्होंने सवाल किया कि आया रियासतों की तक़सीम के ताल्लुक़ से मुल्क में कोई क़ौमी पॉलीसी भी है यह नहीं ? । रुकन पार्लियामेंट ने बताया कि उन्होंने हाईकमान से ख़ाहिश की है कि आम इंतेख़ाबात से क़बल रियासत को तक़सीम ना किया जाये। रियासत में कांग्रेस के सिवा तमाम सियासी जमातों ने 2009 के इंतेख़ाबात से क़बल अपने मकतूब पेश कर दिए थे।

उन्होंने इस यक़ीन का इज़हार किया कि आख़िर में मुत्तहदा आंध्र की जद्द-ओ-जहद ही कामयाब होगी। उन्होंने कहा कि सारा मुल्क रियासत की तक़सीम के अमल का मुशाहिदा कर रहा है। जस्टिस कृष्णा कमेटी ने भी सिफ़ारिश की थी कि तमाम इलाक़ों के अवाम की मंज़ूरी से ही रियासत को तक़सीम किया जा सकता है।

सारी रियासत के अवाम का हैदराबाद से जज़बाती ताल्लुक़ है जो रियासत का दार-उल-हकूमत है। राजगोपाल ने कहा कि चीफ मिनिस्टर मुत्तहदा आंध्र की वकालत कर रहे हैं और रियासत को मुत्तहिद रखने वो हर मुम्किना जद्द-ओ-जहद कर रहे हैं। चीफ मिनिस्टर की हैसियत से किरण कुमार रेड्डी की तबदीली से मुताल्लिक़ अफ़्वाहों पर रद्द-ए-अमल का इज़हार करते हुए उन्होंने कहा कि किसी के लिए भी चीफ मिनिस्टर को तब्दील करना मुम्किन नहीं है।

कांग्रेस हाईकमान को रास्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए उन्होंने इल्ज़ाम आइद किया कि कांग्रेस पार्टी इन तेलुगू अवाम को धोका दे रही है जिस ने उसे दो मर्तबा इक़तिदार दिया है। उन्होंने कहा कि तेलंगाना के क़ाइदीन भद्राचलम को तेलंगाना में शामिल करने का मुतालिबा कर रहे हैं वो क्यों नहीं विशाखापटनम कड़पा कुरनूल और अनंत पर को भी शामिल करने का मुतालिबा नहीं कर रहे हैं।

रुकन पार्लियामेंट ने इस उम्मीद का इज़हार किया कि मुल्क की पाँच रियासतों में इंतेख़ाबात के बाद सूरत-ए-हाल में तबदीली आसकती है। कांग्रेस हुकूमत की बक़ा पर ही सवाल पैदा हो जाएगा। कई जमाअतें पाँच रियासतों में इंतेख़ाबात के बाद कांग्रेस से दूरी इख़तियार करलेगी।

उन्होंने इस ख़्याल का इज़हार किया कि अवाम ये मानते हैं कि रियासत को तक़सीम करने के लिए कांग्रेस पहली मुल्ज़िम है इस के बाद तेलुगूदेशम और वाई एस आर कांग्रेस भी बराबर के ज़िम्मेदार हैं। उन्होंने इस यक़ीन का इज़हार किया कि पार्लियामेंट के सरमाई इजलास में तेलंगाना बिल पेश नहीं किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT