Friday , December 15 2017

रियासती बजट,हथेली मे जन्नत दिखाने के मुमासिल: एल रमना

जगत्याल,21 मार्च: रियासती हुकूमत का बजट अवाम को हथेली में जन्नत दिखाने के मुमासिल है। 2014 के इंतिख़ाबात में वोट हासिल करने के लिए साल 2013-14 का बजट पेश करने का रियासती हुकूमत पर रुकन असेम्बली जगत्याल एल रमना ने इल्ज़ाम लगाया। कल शाम अपनी

जगत्याल,21 मार्च: रियासती हुकूमत का बजट अवाम को हथेली में जन्नत दिखाने के मुमासिल है। 2014 के इंतिख़ाबात में वोट हासिल करने के लिए साल 2013-14 का बजट पेश करने का रियासती हुकूमत पर रुकन असेम्बली जगत्याल एल रमना ने इल्ज़ाम लगाया। कल शाम अपनी रिहायश गाह पर प्रेस कान्फ़्रे‍स को मुख़ातिब करते हुए उन्होंने कहा कि रियासती हुकूमत गुज़िश्ता पाँच साल से बजट में इज़ाफ़ा कर रही है, लेकिन इस के मुताबिक़ ख़र्च‌ नहीं कर रही है। दिन ब दिन अवाम पर मुख़्तलिफ़ टेक्सों में इज़ाफ़ा करते हुए बोझ आइद कर रही है जिस की वजह से रियासत की अवाम का गुज़र बसर मुश्किल होगया है।

रियासती हुकूमत पर 11 हज़ार करोड़ की सरकारी अराज़ी को फ़रोख्त करने, जलएगनम के नाम पर 30 हज़ार करोड़ का ग़बन करने का भी इल्ज़ाम लगाया। जिस की वजह से रियासत में ग़ुर्बत में इज़ाफ़ा हो रहा है। जबकि चंद्रबाबू नायडू के दौर-ए-इक्तदार में रियासत में ग़ुर्बत की ये सूरते हाल नहीं थी। आए दिन एशिया-ए‍ज़रुरिया की कीमतों में बेतहाशा इज़ाफे से अवाम परेशान हैं।

महिकमा सियोल स्पलाई के लिए 200 करोड़ बजट पर उन्होंने गरीब पर मज़ीद बोझ बढ़ने का ख़दशा ज़ाहिर किया। 9 घंटे बर्क़ी सरबराही का वादा करनेवाली हुकूमत में दो दो घंटे कटौती करते हुए अब किरण सरकार में सिर्फ़ तीन ता पाँच घंटे बर्क़ी सरबराही की जा रही है। उन्होंने हुकूमत पर तन्क़ीद करते हुए कहा कि तालीमी मैदान में सहूलियात पहूँचाने के बजाय हॉस्टल के तलबा के Mess Charges में इज़ाफ़ा किया गया जिस से हर तबक़े के तलबा पर बोझ पड़ेगा।

इस मौक़े पर उन्होंने इंदिरा माँ मकानात की तामीर में हुकूमत की जानिब से दिए जाने वाले इमदाद को एक लाख रुपये करने का मुतालिबा किया। इस मौक़े पर शौकत ख़ान, बी शंकर, गट्टू सतीश, जगदीश्वर और दीगर मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT