Saturday , July 21 2018

रियासती बोहरान के लिए कांग्रेस-ओ-मर्कज़ी हुकूमत ज़िम्मेदार : नायडू

तेलुगू देशम पार्टी के सरबराह एन चंद्राबाबू नाइडु पार्टी क़ाइदीन के एक वफ़द के साथ जारीया हफ़्ते के अवाख़िर में दिल्ली का दौरा करेंगे ताके तेलंगाना मसले पर रियासत में जारी बोहरान को हल करने के लिए मर्कज़ पर दबाव‌ डाला जा सके।

तेलुगू देशम पार्टी के सरबराह एन चंद्राबाबू नाइडु पार्टी क़ाइदीन के एक वफ़द के साथ जारीया हफ़्ते के अवाख़िर में दिल्ली का दौरा करेंगे ताके तेलंगाना मसले पर रियासत में जारी बोहरान को हल करने के लिए मर्कज़ पर दबाव‌ डाला जा सके।

नायडूने एक प्रेस कांफ्रेंस से ख़िताब करते हुए कहा कि हम ने फैसला किया हैके 20 सितंबर को दिल्ली जा कर सदर जमहूरीया वज़ीर आज़म और अपोज़ीशन के क़ाइदीन से मुलाक़ात करें ताकि रियासत का बोहरान का कोई फ़ौरी हल दरयाफ़त किया जा सके।

उन्होंने कहा कि रियासत में पिछ्ले 48 दिनों से एहतेजाज का सिलसिला जारी है इस के बावजूद मर्कज़ी हुकूमत इस तरफ तवज्जा देने तैयार नहीं है।

वो इस मसले से निमटने में नाकाम रही है। उन्होंने रियासत को बोहरान में ढकेलने के लिए कांग्रेस और मर्कज़ को ज़िम्मेदार क़रार दिया है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सिर्फ़ अपने करप्शन और ग़लत हुक्मरानी को छिपाने के लिए तेलंगाना का मसला उठाया है। कांग्रेस रियासती बोहरान की ना सिर्फ़ वाहिद बल्कि अव्वलीन ज़िम्मेदार है।

उसे इस हक़ीक़त का आइन्दा चुनाव में अंदाज़ा होगा जब उसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। उन्होंने मर्कज़ी हुकूमत पर तन्क़ीद की और कहा कि वो रियासत की तक़सीम के फैसले से पैदा मसाइल से निमटने कोई मर्कज़ी कमेटी तशकील देने में नाकाम रही है।

उन्होंने कहा कि लगता हैके मर्कज़ी हुकूमत रियासत को दरपेश मसाइल को हल करने में कोई दिलचस्पी नहीं रखती । साबिक़ चीफ मिनिस्टर ने मुतालिबा किया कि मर्कज़ फ़ौरी दोनों इलाक़ों के मुताल्लिक़ा अफ़राद-ओ-क़ाइदीन से मुलाक़ात करे ताकि बोहरान का कोई क़ाबिले कुबूल हल दरयाफ़त किया जा सके।

TOPPOPULARRECENT