Monday , June 25 2018

रियासत की तक़सीम से संगीन मआशी बोहरान

रियासत की तामीर-ए-नौ , अवामी ख़िदमत-ओ-नए तरक़्क़ीयाती इक़दामात के अलावा अवामी साझेदारी के साथ रियासत को तरक़्क़ी देना आंध्र प्रदेश हुकूमत का अहम मक़सद होगा और साथ ही साथ अवाम खास्कर अक़लियतों को एतेमाद में लेते हुए रियासत की तरक़्क़

रियासत की तामीर-ए-नौ , अवामी ख़िदमत-ओ-नए तरक़्क़ीयाती इक़दामात के अलावा अवामी साझेदारी के साथ रियासत को तरक़्क़ी देना आंध्र प्रदेश हुकूमत का अहम मक़सद होगा और साथ ही साथ अवाम खास्कर अक़लियतों को एतेमाद में लेते हुए रियासत की तरक़्क़ी में अक़लियतों को भी शराकतदार बनाते हुए तमाम मज़हबी मुक़ामात का मुकम्मिल तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम करने के इक़दामात किए जाऐंगे।

आंध्र प्रदेश क़ानूनसाज़ असेंबली-ओ-कौंसल अरकान के मुशतर्का मीटिंग से ख़िताब करते हुए रियासती गवर्नर ई एस एल नरसिम्हन ने अपने ख़ुतबा में मज़कूरा इज़हार किया और कहा कि उनकी हुकूमत मुस्लिम-ओ-ईसाई तबक़ा के मुफ़ादात का मुकम्मिल तहफ़्फ़ुज़ करेगी । गवर्नर ने पुर ज़ोर अलफ़ाज़ में कहा कि मुत्तहदा रियासत आंध्र प्रदेश की तक़सीम का तरीका-ए-कार अवाम के लिए इंतेहाई तकलीफ़दह रहा। जिस की वजह से अवाम में गहिरी तशवीश का इज़हार पाया गया। पिछ्ले एक तवील अर्सा से रियासत को ज़बरदस्त नुक़्सानात से दो-चार होना पड़ा। लेकिन आज पाए जाने वाले बोहरान जैसे हालात को तरक़्क़ी के मवाकों में तबदील कर के रियासत को तरक़्क़ी देने के लिए इक़दामात किए जाने चाहीए। उन्होंने कहा कि रियासत आंध्र प्रदेश की तरक़्क़ी के लिए ख़ुसूसी पैकेज-ओ-ख़ुसूसी और अलाहिदा मौक़िफ़ फ़राहम करने के लिए मर्कज़ी हुकूमत तेज़ तर इक़दामात करने की ज़रूरत है।

उन्होंने रियासत की तक़सीम से मुताल्लिक़ बिल में पाए जाने वाले तमाम उमूर ( नकात ) पर मर्कज़ी हुकूमत से अमल करने की पुर ज़ोर ख़ाहिश की और आइन्दा 15 साल तक आंध्र प्रदेश रियासत को ख़ुसूसी मौक़िफ़ फ़राहम करने-ओ-माली ख़सारा की पा बजाई करने की मर्कज़ी हुकूमत से गवर्नर ने अपने ख़ुतबे में पुर ज़ोर अपील की।

उन्होंने कहा कि पिछ्ले दस साला हुक्मरानी ( हुकूमत ) में कई एक मुबय्यना बे क़ाईदगियों के वाक़ियात की वजह से आज रियासत आ
आंध्र प्रदेश मुश्किल दह हालात-ओ-शदीद बोहरान से दो-चार है।

TOPPOPULARRECENT