Monday , December 18 2017

रियासत को तक़सीम से बचाना ज़रूरी

रियास्ती वज़ीर विश्वारूप ने एन्टोनी कमेटी को बेफ़ैज़ क़रार देते हुए सीमा - आंध्र से ताल्लुक़ रखने वाले मर्कज़ी और रियास्ती वुज़रा और मुंतख़ब अवामी नुमाइंदों को इस्तीफ़ा पेश करते हुए रियासत को तक़सीम से बचाने का मश्वरा दिया।

रियास्ती वज़ीर विश्वारूप ने एन्टोनी कमेटी को बेफ़ैज़ क़रार देते हुए सीमा – आंध्र से ताल्लुक़ रखने वाले मर्कज़ी और रियास्ती वुज़रा और मुंतख़ब अवामी नुमाइंदों को इस्तीफ़ा पेश करते हुए रियासत को तक़सीम से बचाने का मश्वरा दिया।

उन्हों ने ख़ुद अपने ही पार्टी के अरकाने पार्लीयामेंट पर तन्क़ीद करते हुए कहा कि सीमा-आंध्र के कांग्रेस अरकाने पार्लीयामेंट एवान में पार्टी सदर सोनीया गांधी की ग़ैर मौजूदगी में हंगामा आराई कर रहे हैं, जब रियासत की तक़सीम को रोकने का वाहिद रास्ता सिर्फ़ इस्तीफ़ा है।

उन्हों ने कहा कि एन्टोनी कमेटी सीमा-आंध्र का दौरा करने की बजाय ए सी चैंबर में बैठ कर मसाइल सुनना चाहती है। अगर ये कमेटी रियासत की तक़सीम से क़ब्ल अवामी राय हासिल करने के लिए तशकील दी जाती तो बेहतर था।

उन्हों ने मश्वरा दिया कि तमाम सयासी जमातों के क़ाइदीन अवामी जज़बा का एहतेराम करते हुए अपने ओहदों से मुस्ताफ़ी होकर अवामी एहतेजाज में शामिल हो जाएं।

TOPPOPULARRECENT