Thursday , December 14 2017

रियासत में एक और तूफ़ान लेहर का संगीन ख़तरा

एक ऐसे वक़्त जब आंध्र प्रदेश के साहिली अज़ला तूफ़ान हेलन की तबाह कारीयों से दहश्त ज़दा हैं कि इस दौरान उन्हें हेलन से भी कहीं ज़्यादा ख़तरनाक तूफ़ान लेहर का सामना है।

एक ऐसे वक़्त जब आंध्र प्रदेश के साहिली अज़ला तूफ़ान हेलन की तबाह कारीयों से दहश्त ज़दा हैं कि इस दौरान उन्हें हेलन से भी कहीं ज़्यादा ख़तरनाक तूफ़ान लेहर का सामना है।

नया तूफ़ान लेहर 170 ता 180 किलो मीटर फ़ी घंटे की तूफ़ानी हवाऐं के साथ साहिली अज़ला से टकराएगा जिस के असर से ख़ौफ़नाक तबाह कारीयों का अंदेशा ज़ाहिर किया गया है।

महकमे मौसीमीयत के मुताबिक़ तूफ़ान लेहर 28 नवंबर जुमेरात को साहिली अज़ला से टकराएगा। जिस के बारे में तफ़सीलात आइन्दा दो दिन के दौरान दस्तयाब होजाएंगी।

आफ़ात समावी से निमटने वाले रियासती शोबा स्टेट डीज़ासटर मैनेजमेंट के कमिशनर पार्था सारथी आज यहां सेक्रेटेरिएट में सहीफ़ा निगारों से बातचीत करते हुए कहा कि तूफ़ान लेहर से साहिली अज़ला में फसलों , क़दीम घरों ,सड़कों और आबपाशी के ज़राए को नुक़्सान पहुंचने के अंदेशे हैं।

किसी भी नागहानी सूरते हाल से निमटने के लिए तमाम साहिली अज़ला श्रीकाकुलम ता नेल्लोर के ओहदेदारों को चौकस रहने की हिदायत की गई है।

जान-ओ-माल के नुक़्सानात में कमी के लिए एहतियाती तदाबीर इख़तियार की गई। माही ग़ैरों से कहा गया है कि वो समुंद्रों के क़रीब ना जाएं।

बोसीदा घरों और झोंपड़ियों में रहने वालों को मुहतात रहने की हिदायत दी गई है। इस दौरान चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने साहिली अज़ला के तमाम कलक्टरों को हिदायत की है कि वो नशीबी इलाक़ों से अवाम के तख़लिये के लिए तैयार रहे।

उन्होंने बताया कि इमकानी तूफ़ान लहर जोकि अंडमान के मुक़ाम पर फ़िलवक़्त अपना मर्कज़ बनाया हुआ है। उसकी सूरते हाल का बग़ौर जायज़ा लिया जा रहा है और कल यानी 25 नवंबर को महकमे मौसीमीयत की रिपोर्टस का जायज़ा लेने के बाद साहिली अज़ला में समुंद्र के साहिली मुक़ामात के अवाम को महफ़ूज़ मुक़ामात पर मुंतक़िल करने के इक़दामात किए जाऐंगे।

TOPPOPULARRECENT