Wednesday , December 13 2017

रियासत में 439 कॉलिजस बंद होने के क़रीब

हैदराबाद। 7 नवंबर (सियासत न्यूज़) रियासत के 439 एमसी ए और एमबी ए कॉलिजस बंद होने के क़रीब पहुंच गए हैं। इन कॉलिजस के ज़िम्मा दारान ने हुकूमत से ख़ाहिश की है कि वो इन तलबा-ए-को उन के कॉलिजस में मुंतक़िल करें जिन्हों ने क़रीबी कॉलिजस में दाख

हैदराबाद। 7 नवंबर (सियासत न्यूज़) रियासत के 439 एमसी ए और एमबी ए कॉलिजस बंद होने के क़रीब पहुंच गए हैं। इन कॉलिजस के ज़िम्मा दारान ने हुकूमत से ख़ाहिश की है कि वो इन तलबा-ए-को उन के कॉलिजस में मुंतक़िल करें जिन्हों ने क़रीबी कॉलिजस में दाख़िला लिया है क्योंकि इन कॉलिजस की बेशतर नशिस्तें मख़लवा रह गई हैं और ये नशिस्तें 27 अक्तूबर को कौंसलिंग के इख़तताम के बाद भी ख़ाली रह गई हैं।

दूसरे मरहले के इख़तताम के वक़्त 439 कॉलिजस (62 एमसी ए और 77 एमबी ए) में 10 फ़ीसद से भी कम दाख़िले अमल में लाए गई। ओहदेदारान का कहना है कि मैनिजमंट के पास अब कोई मुतबादिल नहीं है, सिवाए इस के कि वो अपने तलबा-को दूसरे कॉलिजस में मुंतक़िल कराईं। आंधरा प्रदेश स्टेट कौंसल आफ़ हाइर एजूकेशन 636 एमसी ए कॉलिजस में से 113 और 940 एमबी ए कॉलिजस में से 444 कॉलिजस में ही 90 फ़ीसद दाख़िले हुए हैं।

ऐसे कॉलिजस जहां 50 फ़ीसद दाख़िले हुए हैं, वहां के ओहदेदार चाहते हैं कि वो इन तलबा-ए-को दूसरे कॉलिजस में मुंतक़िल करादें क्योंकि इतनी कम तादाद में तलबा-की शमूलीयत से उन कॉलिजस को चलाना इक़तिसादी तौर पर नामुमकिन अमर है। ओहदेदारान ने कहा कि दूसरे मरहले की कौंसलिंग के बाद अलाटमैंट में 2232 का इज़ाफ़ा किया गया।

42,982 नशिस्तें ख़ाली रह गईं जिस में 21,681 एमसी ए और 21,301 एमबी ए नशिस्तें शामिल हैं। एमसी ए कोर्स में सिर्फ 57 नए दाख़िले हुए जबकि एमबी ए में 1,840 तलबा-ए-ने दाख़िले लुए। पहली कौंसलिंग के बाद 49,162 तलबा-ए-ने दाख़िले लिए लेकिन 38,773 तलबा-ए-ही कॉलिजस में रिपोर्ट करसके और 8,372 तलबा-ए-ने कोर्स में शमूलीयत हासिल नहीं की। दूसरे मरहले से क़बल 2,015 तलबा-ए-ने दाख़िला लिया लेकिन इन तलबा-ए-ने अपने दाख़िले रदकरा लिये।

TOPPOPULARRECENT