Sunday , December 17 2017

रिश्वत केसों में सरकारी महिकमा हाज़िरदिमाग़ी से काम लें

नई दिल्ली

नई दिल्ली

सैंटर्ल वीजलेंस कमीशन ने सरकारी महिकमों से कहा है कि वो मुबय्यना रिश्वत सतानी केस में मुलाज़मीन के ख़िलाफ़ इस्तिग़ासा की कार्रवाई की इजाज़त देने की सूरतों में फ़ैसला करने से क़बल हाज़िरदिमाग़ी से काम लें। सी वे सी ने कहा कि मुबय्यना रिश्वत सतानी के मामले में सरकारी मुलाज़िमीन के ख़िलाफ़ कार्रवाई केलिए इजाज़त देने के इख़्तयारात का भी ख़्याल रखा जाये और जिस के ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाने वाली है।

इस के तहफ़्फ़ुज़ केलिए भी राहें मौजूद हैं। इस्तिग़ासा की कार्रवाई के अहकाम को सबूत के तौर पर नहीं किया जाना चाहिए कि अथॉरीटी को इस से मरबूत मामले का इलम है। तमाम केस से वाक़िफ़ है। सी वे सी ने ये बयान उस पस-ए-मंज़र में दिया है कि मुबय्यना रिश्वत सतानी के केस में सरकारी मुलाज़मीन के ख़िलाफ़ इस्तिग़ासा की कार्यवाईयों का फ़ैसला करने में ताख़ीर होरही है।

इस तरह के ज़ेर-ए-इलतिवा केसों की निगरानी करने और हिदायात के बावजूद कमीशन को तशवीश है कि बद उनवान ओहदेदारों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने में ताख़ीर से काम लिया जाता है।

TOPPOPULARRECENT