Wednesday , January 24 2018

रूसी बमबारी के बाद शामी फ़ोर्सेस की अहम पेशक़दमी

शामी फ़ोर्सेस, जिनकी हिमायत लेबनानी तंज़ीम हिज़्बुल्लाह भी कर रही है, का कहना है कि रूस की जानिब से की जाने वाली शदीद फ़िज़ाई बमबारी के बाद उन्होंने बाग़ीयों के ख़िलाफ़ अहम पेशक़दमी की है।

इत्तिलाआत के मुताबिक़ हुकूमती अफ़्वाज ने अदलब, हुमा और लाज़क़ीह और रका सूबों में पेशक़दमी की है। रूस का कहना है कि उस के तैयारों ने गुज़िश्ता 24 घंटों के दौरान शाम में 60 के क़रीब फ़िज़ाई हमले किए हैं जिसमें उन्होंने ख़ुद को दौलत इस्लामीया कहने वाली शिद्दत पसंद तंज़ीम को निशाना बनाया है।

ताहम ऐसा महसूस होता है कि रूसी बमबारी से ज़्यादा नुक़्सान हुकूमत और दौलत इस्लामीया के ख़िलाफ़ लड़ने वाले बाग़ी जंगजूओं को हुआ है। मर्कज़ी मैदाने जंग दमिश्क़ को दूसरे बड़े शहरों जिसमें हलब भी शामिल है जोड़ने वाली अहम शाहरा से बहुत क़रीब आ चुका है और ख़्याल किया जा रहा है कि सदर बशारुल असद की अफ़्वाज बाग़ीयों को अदलब के मुक़ाम पर रोकने की कोशिश करेंगी।

TOPPOPULARRECENT