Saturday , December 16 2017

रूसी मिलेट्री रेंज में 4000 टन का पुराना अस्लह (artillery) तबाह

मास्को, १० अक्तूबर (ए एफ पी) चार हज़ार मीट्रिक टन क़दीम ( प्राचीन) गोला बारूद आज वसती रूस में मिलेट्री के एक मर्कज़ ( केंद्र) में धमाके के साथ तबाह हो गया जिस के नतीजा में आसमान में धुएं के सफेद बादल छा गए और मुक़ामी लोग ख़ौफ़-ओ-हरास में अपनी ज

मास्को, १० अक्तूबर (ए एफ पी) चार हज़ार मीट्रिक टन क़दीम ( प्राचीन) गोला बारूद आज वसती रूस में मिलेट्री के एक मर्कज़ ( केंद्र) में धमाके के साथ तबाह हो गया जिस के नतीजा में आसमान में धुएं के सफेद बादल छा गए और मुक़ामी लोग ख़ौफ़-ओ-हरास में अपनी जान बचाने के लिए इधर उधर भागने लगे।

इमरजेंसी और दिफ़ा ( रक्षा) की वज़ारतों ने कहा कि एवरल पहाड़ी ख़ित्ते में शहर ओरनबर्ग (Orenburg near the Kazakhstan border) के 30 किलो मीटर जुनूब ( दक्षिण) में वाक़्य ( मौजूद/ स्थित) दूंगोज़ मिलेट्री रेंज में पुराने अस्लह ( शस्त्र) और गोला बारूद यकायक फट पड़ने पर आग लग गई। चीफ मिलेट्री इनवेस्टी गेटिव डायरेक्ट्रेट की तर्जुमान ( Spokesperson) ने बताया कि जुमला 4,000 टन पुराना गोला बारूद बिशमोल ( जिसमें) 400 टन फ़िज़ाई बम और ज़ाइद अज़ 1300 टन शॅल धमाके से फट पड़े।वज़ारत-ए-दिफ़ा ( रक्षा मंत्रालय) और इलाक़ाई हुकूमत ने कहा कि इस वाक़िया में कोई जानी नुक़्सान नहीं हुआ।

TOPPOPULARRECENT