Sunday , December 17 2017

रूस के कहने पर मैं बशारुल असद के साथ नहीं बैठ सकता

तुर्की के सदर रजब तैयब इर्दूआन ने कहा है कि तुर्क फ़ौजी इराक़ीयों को तर्बीयत देने के लिए अशीक़ा कैंप बग़दाद के इल्म और मुतालिबे पर भेजे गए, ताहम उन्होंने “अल अर्बिया” को अपने ख़ुसूसी इंटरव्यू में इस अमर की वज़ाहत नहीं की कि इराक़ में मौजूद तुर्क फ़ौज को वापिस बुलवाया जा रहा है या नहीं?

उन्होंने कहा कि शुमाली इराक़ में तुर्क फ़ौज की मौजूदगी का तनाज़ा रूस की दरख़ास्त पर शाम, इराक़, रूस और ईरान के दरमयान तय पाने वाले चार मुल्की मुआहिदे के में तुर्की के इनकार के बाद पैदा हुआ।

“इराक़ और तुर्की के दरमयान ताल्लुक़ात अच्छे थे। इराक़ी वज़ीरे आज़म अल अबादी के दौरा तुर्की के मौक़ा पर हमने इराक़ में होने वाली पेशरफ़्त पर तफ़सीली तबादले ख़्याल किया।”

TOPPOPULARRECENT