Sunday , November 19 2017
Home / World / रूस तुर्की की दोस्ती से महरूम हो सकता है – उर्दूआन

रूस तुर्की की दोस्ती से महरूम हो सकता है – उर्दूआन

(L-R, front) Turkish President Tayyip Erdogan, Russian President Vladimir Putin and Palestinian President Mahmoud Abbas attend a ceremony to open the Moscow Grand Mosque in Moscow, Russia, September 23, 2015. The new mosque, which was erected on the site of the city's original mosque built in 1904 and which has been under reconstruction since 2005, will be able to accommodate up to 10,000 people simultaneously, according to local media. REUTERS/Alexei Druzhinin/RIA Novosti/Kremlin ATTENTION EDITORS - THIS IMAGE HAS BEEN SUPPLIED BY A THIRD PARTY. IT IS DISTRIBUTED, EXACTLY AS RECEIVED BY REUTERS, AS A SERVICE TO CLIENTS.

तुर्क सदर रजब तैयब उर्दूआन ने रूस को ख़बरदार किया है कि वो अंकरा की दोस्ती से महरूम हो सकता है। उन्होंने ये इंतिबाह रूसी जंगी तैयारों की जानिब से शाम की सरहद के साथ वाक़े इलाक़े में तुर्की की फ़िज़ाई हदूद की दो मर्तबा ख़िलाफ़वर्ज़ी के बाद जारी किया है।

उन्होंने ब्रुसेल्स में बेल्जियम के वज़ीरे आज़म चार्ल्स मशाल के साथ मंगल के रोज़ मुशतर्का न्यूज़ कान्फ़्रैंस में कहा है कि अगर रूस तुर्की जैसे मलिक की दोस्ती से महरूम हो जाता है तो फिर वो बहुत कुछ खो देगा।

उनका मौजूदा बोहरान के दौरान रूस के ख़िलाफ़ ये पहला सख़्त बयान है। उन्होंने रूस और उस के इत्तिहादी ईरान पर इल्ज़ाम आयद किया है कि वो शामी सदर बशारुल असद की रियास्ती दहश्तगर्दी को बरक़रार रखने के लिए काम कर रहे हैं।

उन्होंने रूसी तैयारों की जानिब से शाम में फ़िज़ाई मुहिम के दौरान तुर्की की फ़िज़ाई हदूद की ख़िलाफ़वर्ज़ी पर कहा कि ये एक ऐसा मुआमला है कि अब इस पर ख़ामूश रहना मुम्किन नहीं रहा है।

TOPPOPULARRECENT