Wednesday , January 24 2018

रेप का मुखालिफत करने पर लड़की को जलाया

जमशेदपुर : सिदगोड़ा थाना इलाक़े के बागुनहातू में 15 साला आशा साव (हक़ीक़ी नाम) के साथ इशमतरेज़ि की कोशिश करने और मुखालिफत करने पर किरासन छिड़ककर जिंदा जलाने की कोशिश का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मुल्ज़िम नौजवान साेनू लोहार जुमेरात की रात को वाकिया को अंजाम देकर फरार हो गया। जुमा को लड़की के अहलेखाना ने बस्ती के लोगों की मदद से मुल्ज़िम को धर दबोचा और उसकी जमकर पिटाई की। बाद में उसे पुलिस के हवाले किया गया।

जख्मी लड़की को पहले मरसी अस्पताल और फिर जुमे की रात एमजीएम लाया गया, जहां इलाज़ के बाद उसे टीएमएच रेफर कर दिया गया। थाना हाजत में भी मुल्ज़िम लड़की के अहले ख्नाना को धमकी दे रहा था। आशा दसवीं की तल्बा है। इस सिलसिले में सिदगोड़ा थाना में आशा के वालिद ने तहरीरी शिकायत की है।

पुलिस के मुताबिक सोनू लोहार बिरसानगर का रहने वाला है। सोनू कंपनी में ठेका मुलाज़िम है और गुजिशता कुछ दिनों से वह बागुनहातु में किराये में रह रहा था। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

आशा के वालिद ने बताया कि वह मजदूरी का काम करने के साथ-साथ घर पर खटाल का कारोबार करते हैं। उनकी बेटी आशा को सोनू काफी दिनों से छत से छेड़खानी करता था। सोनू गुजिशता तीन माह से पड़ोसी के घर किराये में रह रहा था। जुमेरात को सुबह उनकी बीवी बाकुड़ा चली गयी थी। रात आठ बजे वह खटाल में काम कर रहे थे। उनकी बड़ी बेटी भी साथ में थी। घर में छोटी बेटी अकेली थी। पड़ोस में रहने वाला सोनू दीवार फांद कर अंदर घुसा और बेटी का हाथ पकड़कर ले जाने लगा। बेटी ने मना किया तो उसके साथ इशमतरेज़ि करने की कोशिश किया। मुखालिफत करने पर किरोसिन तेल छिड़ककर आग लगा दी और फरार हो गया। बेटी की तरफ से शोर मचाने पर वह भागकर कमरे में गये तो बेटी को जलता देख आग बुझायी और इलाज के लिए मरसी अस्पताल ले गये। जुमा को दिन में वाकिया की जानकारी पुलिस को दी गयी।

 

TOPPOPULARRECENT