रेप के बाद बच्ची की हत्या करने वाले रेपिस्ट को पुलिस ने मारी गोली !

रेप के बाद बच्ची की हत्या करने वाले रेपिस्ट को पुलिस ने मारी गोली !

रामपुर– छह साल की बच्ची से दुष्कर्म कर उसकी हत्या करने वाले बदमाश को पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की गोली लगने से बदमाश घायल हो गया।

उसे जिला अस्पताल भर्ती कराया गया है। बाद में मेरठ मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। बदमाश ने जिस बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाया था, वह उसी के मुहल्ले की थी।

डेढ़ माह पहले बदमाश उसे बहाने से कालोनी के पीछे एक अर्धनिर्मित मकान में ले गया था, जहां उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में पहचान के डर से उसकी गला दबाकर हत्या कर दी थी।

शव पर डाल दिया था तेजाब

बच्ची की पहचान छुपाने के लिए शव पर तेजाब डालकर जला दिया था। परिजनों ने बच्ची की गुमशुदगी सिविल लाइंस कोतवाली में कराई थी, लेकिन बच्ची का कहीं पता नहीं चला था। शनिवार को कुछ बच्चे उसी मकान में खेलते-खेलते पहुंच गए थे। तब वहां बच्ची का कंकाल नजर आया। इसके बाद कंकाल मिलने की बात शहर में आग की तरह फैल गई। लोगों की भीड़ लग गई। पुलिस भी आ गई। परिजनों ने बच्ची के कपड़ों और चप्पलों से पहचान की थी।

एसपी ने दिए थे गिरफ्तारी के आदेश

इस मामले में पुलिस अधीक्षक डॉ. अजय पाल शर्मा ने सिविल लाइंस पुलिस को तुरंत मुकदमा दर्ज कर आरोपित की गिरफ्तारी के निर्देश दिए थे। इसके लिए क्राइम ब्रांच को भी लगाया। पुलिस को देर रात आरोपित के हाईवे स्थित आश्रम पद्धति स्कूल के पास मजार के सामने सड़क पर खड़े होने की सूचना मिली।

इस पर सिविल लाइंस कोतवाल राधेश्याम, इंस्पेक्टर ऋषिपाल सिंह, क्राइम ब्रांच प्रभारी रामवीर सिंह, एसएसआइ सिविल लाइंस सुभाष चंद यादव आदि फोर्स लेकर वहां पहुंच गए।

पुलिस को देख उसने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने किसी तरह खुद को बचाया और जवाब में गोलियां चलाईं। पुलिस की दो गोली बदमाश के पैर में लगी। वह घायल होकर वहीं गिर गया। पुलिस ने उसे दबोच लिया। उसके पास से तमंचा भी मिला है। उसे जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां से मेरठ रेफर कर दिया। इससे पहले एसपी ने अस्पताल पहुंचकर बदमाश से पूछताछ की। पकड़ा गया बदमाश नाजिल पुत्र नाजिम है।

यह था मामला

सिविल लाइंस कोतवाली क्षेत्र में एक व्यक्ति का परिवार रहता है। वह कारचोब कारीगर हैं। उनकी छह साल की बेटी घर के बाहर खेलते समय अचानक गायब हो गई थी। परिजनों ने उसकी काफी तलाश की थी, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला था। परिजनों ने सिविल लाइंस कोतवाली में गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी।

Top Stories