रेवाड़ी गैंगरेप: फरार चल रहे थलसेना का आरोपी जवान गिरफ्तार

रेवाड़ी गैंगरेप: फरार चल रहे थलसेना का आरोपी जवान गिरफ्तार
Click for full image

हरियाणा के रेवाड़ी की 19 साल की एक युवती से हुए गैंगरेप के 10 दिनों बाद राज्य की पुलिस ने इस मामले में फरार चल रहे थलसेना के एक जवान सहित दो आरोपियों को रविवार को गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) बी.एस.संधु ने कहा कि मनीष और थलसेना के जवान पंकज की गिरफ्तारी के साथ ही इस मामले में शामिल सभी प्रमुख आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

संधु ने बताया कि, ‘इस मामले में फरार चल रहे दोनों प्रमुख आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.’ इससे पहले, मुख्य आरोपी निशु और दो अन्य को गिरफ्तार किया जा चुका है.

रेवाड़ी सामूहिक बलात्कार कांड पर देश भर में आक्रोश है. इस घटना के बाद विपक्षी पार्टियों ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से नैतिक आधार पर इस्तीफा मांगा है. उनका आरोप है कि खट्टर की सरकार हरियाणा की बेटियों की हिफाजत में नाकाम रही है.

बता दें कि राष्ट्रीय महिला आयोग ने हरियाणा के रेवाड़ी में 19 वर्षीय स्कूली टॉपर लड़की के साथ कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार के मामले में पुलिस की भूमिका पर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि पुलिस ने आरोपियों का पता लगाने एवं गिरफ्तार करने के लिए त्वरित कदम नहीं उठाया.

बता दें कि इस घटना के बाद तथ्यों की जांच के लिए आयोग का एक दल मौके पर गया था. इस दल ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. आयोग के दल की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘आरोपियों का पता लगाने और गिरफ्तार करने के लिए त्वरित कदम उठाने में पुलिस ने देरी की.’’

महिला आयोग के दल ने यह भी कहा, ‘‘जब हम मौके पर पहुंचे, तो पाया कि घटनास्थल को सील नहीं किया गया. यह सबूत मिटाने जैसा है.

बहरहाल, जब मामला एसआईटी के समक्ष उठाया गया, तो सूचित किया गया कि फोरेंसिक टीम पहले ही नमूने एकत्र कर चुकी है.’’ आयोग के दल के मुताबिक लड़की के माता-पिता ने बताया कि लड़की सिर्फ तीन आरोपियों की पहचान कर सकी है, लेकिन इस अपराध में 10-12 लोग शामिल हो सकते हैं.

Top Stories