Tuesday , August 14 2018

रॉयल तेलंगाना की तशकील या हैदराबाद को मर्कज़ी ज़ेर-ए-इंतेज़ाम इलाक़ा बनाने की मुख़ालिफ़त: कोदंदरम

तेलंगाना सयासी जवाइंट एक्शण कमेटी 10 अज़ला पर मुश्तमिल अलैहदा रियासत तेलंगाना से कम कुछ भी कुबूल नहीं करेगी। प्रोफ़ैसर कोदंदरम ने आज सदर तेलंगाना राष़्ट्रा समीती के चंद्रशेखर राव‌ से मुलाक़ात के बाद ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बातच

तेलंगाना सयासी जवाइंट एक्शण कमेटी 10 अज़ला पर मुश्तमिल अलैहदा रियासत तेलंगाना से कम कुछ भी कुबूल नहीं करेगी। प्रोफ़ैसर कोदंदरम ने आज सदर तेलंगाना राष़्ट्रा समीती के चंद्रशेखर राव‌ से मुलाक़ात के बाद ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बातचीत के दौरान ये बात कही।

उन्होंने हैदराबाद को मर्कज़ के ज़ेर‍ ए‍‍ इंतेज़ाम इलाक़ा क़रार दिए जाने की इत्तेलाआत को मुस्तर्द करते हुए कहा कि इस तरह की तजवीज़ क़तई तौर पर नाक़ाबिल‍ ए‍ कुबूल है।

आज दोपहर तक़रीबन 3 घंटे तक तेलंगाना सयासी जवाइंट एक्शण कमेटी कि मीटिंग जारी रहा जिस में सदर टी आर एस के चन्द्रशेखर राव‌ ने भी शिरकत की।

प्रोफ़ैसर कोदंदरम ने बताया कि मीटिंग के दौरान मर्कज़ी हुकूमत की तरफ से अफ़शा-ए-की जाने वाली इत्तेलाआत पर ग़ौर-ओ-ख़ौज़ किया गया। उन्होंने कहा कि रॉयल तेलंगाना या बगै़र हैदराबाद के तेलंगाना कुबूल करने का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता।

उन्होंने बताया कि 01 अगस्त को तेलंगाना सयासी जवाइंट एक्शण कमेटी अपने मुजव्वज़ा महा धरना प्रोग्राम को कामयाब बनाने के मुताल्लिक़ हिक्मत-ए-अमली तैयार कररही है।

मीटिंग के दौरान रियासत तेलंगाना के नाम को तबदील करते हुए रियासत हैदराबाद क़रार दिए जाने की इत्तेलाआत पर भी तबादला-ए-ख़्याल किया गया और इस पर कोई क़तई फ़ैसला नहीं किया गया।

TOPPOPULARRECENT