रॉ अफसर ने की जहेज़ के लिए बीवी की कत्ल

रॉ अफसर ने की जहेज़ के लिए बीवी की कत्ल
पटना जिले की एक अदालत ने छह साल पहले जहेज़ के लिए अपनी बीवी की कत्ल के मामले में रा के अफसर मनीष कुमार सिंह को आज दस साल के क़ैद ब मुसक्कत और पांच हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी।

पटना जिले की एक अदालत ने छह साल पहले जहेज़ के लिए अपनी बीवी की कत्ल के मामले में रा के अफसर मनीष कुमार सिंह को आज दस साल के क़ैद ब मुसक्कत और पांच हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी।

इजाफ़ी जिला और सेशन जज अनिल कुमार सिंह ने मनीष कुमार सिंह को साल 2008 में जहेज़ के लिए अपनी बीवी शीबू सिंह की आग लगाकर कत्ल का मुजरिम करार देते हुए आज दस साल क़ैद बा मुसक्कत और पांच हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी। मनीष पर पटना जिले के फुलवारीशरीफ थाना के तहत बीएमपी 16 के नज़दिक मौर्य विहार इलाके में 21 अगस्त 2008 को अपने घर में अपनी बीवी को जलाकर मार डालने का इल्ज़ाम था।

शीबू सिंह की वालिदा किरण राठौड ने जहेज़ की मांग को लेकर अपनी बेटी की कत्ल कर देने का इल्ज़ाम लगाते हुए अपने दामाद समेत उनके खानदान के पांच दीगर के खिलाफ मुक़ामी थाने में सनाह दर्ज करायी थी। मामले के तहक़ीक़ात के दौरान दीगर पांच मुल्ज़िम की शीबू सिंह की कत्ल में मौलूस नहीं पाए जाने पर पुलिस की तरफ से अदालत में पेश इल्ज़ाम खत में उनके नाम शामिल नहीं किए गए थे।

कानपुर के किदवई नगर रहने वाले किरण राठौड ने इल्ज़ाम लगाया था दो दिन के भीतर दस लाख रुपये दस्तयाब नहीं कराए जाने पर उनकी बेटी की कत्ल कर दी गयी। उन्होंने कहा कि इस बारे में उनकी बेटी ने अपनी कत्ल से दो दिनों पहले अपने ससुराल वालों की ये मांग के बारे में जिक्र करते हुए बताया था कि ऐसा नहीं करने पर वे उसकी कत्ल कर देंगे।

राठौड ने बताया कि इस सिलसिले में उन्होंने अपने दामाद से बात की पर उसने भी वही मांग दोहरायी और उनसे कहा कि अगर वे दस लाख रुपये नहीं देंगे तो उनकी बेटी को जिशमानी इस्तहसाल दी जायेगी। पटना के दानापुर में रा के ओहदे पर तैनात मनीष कुमार सिंह की शादी शीबू सिंह से कानपुर में 13 दिसंबर 2002 को हुई थी।

Top Stories