Saturday , December 16 2017

रोहिंग्या मुसलमानों का नरसंहार किया गया, कोई भी अंतरराष्ट्रीय राहत संस्था मदद नहीं कर रहा है: जर्मन पत्रिका

बर्मा: पश्चिमी मीडिया ने भी खबर दी है कि म्यांमार के अल्पसंख्यक मुसलमानों को अत्यंत बर्बर तरीके से कुचला जा रहा है. जर्मन पत्रिका स्पीगेल ने अमरीका के हार्वर्ड विश्वविद्यालय की जांच के हवाले से खबर दी है कि म्यांमार के मुसलमानों की स्थिति बेहद बदतर और दुखद है.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

बसीरत ऑनलाइन की खबरों के अनुसार जर्मन पत्रिका ने लिखा है कि म्यांमार में एक तरह का नरसंहार किया जा रहा है. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि म्यांमार के मुसलमानों पर उस देश के सैनिकों का हिंसा बेहद चिंताजनक है और पिछले कई वर्षों से इस क्षेत्र में मुस्लिम अल्पसंख्यकों की गुप्त रूप से नरसंहार की जा रही है.

जर्मन पत्रिका ने लिखा है कि म्यांमार के मुसलमानों को पिछले कई वर्षों से गंभीर कुपोषण, विभिन्न प्रकार की बीमारियों और स्वच्छता के मुद्दों का सामना है और यह सिलसिला आगामी वर्षों में भी जारी रहेगा. इस रिपोर्ट में जो अमेरिकी और यूरोपीय शोधकर्ताओं ने तैयार की है, कहा गया है कि कोई भी अंतरराष्ट्रीय राहत संस्था म्यांमार के रोहिंग्या मुसलमानों की मदद नहीं कर रहा है बल्कि म्यांमार की सरकार और सेना ने रोहिंग्या क्षेत्र को घेर रखा है. रोहिंग्या मुसलमानों पर होने वाले अत्याचारों के परिणामस्वरूप म्यांमार प्रांत राखीन के दसियों हजार रोहिंग्या मुसलमान अपने घरों को छोड़ने पर मजबूर हुए हैं.

TOPPOPULARRECENT