Saturday , December 16 2017

रोहिंग्या मुसलमानों पर जारी हिंसा को लेकर UN में बैठक, म्यांमार को मिला चीन और रुस का साथ

नई दिल्ली। म्यांमार में रोहिंग्या शरणार्थियों के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र में बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान दुनिया की महाशक्तियां बंटी हुई नजर आई।

एक ओर जहां चीन और रूस ने रोहिंग्या मुद्दे पर म्यांमार सरकार को समर्थन किया तो वहीं अमरीका, ब्रिटेन और फ्रांस ने इस हिंसा को रोकने की अपील की। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव ऐंतोनियो गुतेरस ने भी इस मामले में सुरक्षा परिषद से सख्स कदम उठाने को कहा है।

बैठक में अमेरिकी राजदूत निकी हेली ने म्यांमार के हालात पर चिंता जताते हुए कहा कि म्यांमार अल्पसंख्यक समुदाय के खात्मे के लिए क्रुर आंदोलन चला रखा है। उन्होंने म्यांमार के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

उन्होंने सभी देशों से म्यांमार में हथियारों की सप्लाई रोकने की अपील की। वहीं दूसरी ओर संयुक्त राष्ट्र में चीन के प्रतिनिधि ने कहा कि हमें म्यांमार सरकार की समस्याओं और चुनौतियों को समझना चाहिए। ऐसे समय में म्यांमार को मदद की जरूरत है।

TOPPOPULARRECENT