Wednesday , December 13 2017

लंगड़ी हुकूमत चलाना मुश्किल : हेमंत सोरेन

वजीरे आला हेमंत सोरेन ने कहा कि लूल्ही-लंगड़ी हुकूमत ज्यादा दूर तक नहीं चल सकती। आज जिस हुकूमत को लेकर हम चल रहे हैं, उसके साथी न काम कर रहे हैं और न करने दे रहे हैं। क्योंकि इस हुकूमत का एक पहिया टेंपो, एक टैक्ट्रर व एक बैलगाड़ी का है

वजीरे आला हेमंत सोरेन ने कहा कि लूल्ही-लंगड़ी हुकूमत ज्यादा दूर तक नहीं चल सकती। आज जिस हुकूमत को लेकर हम चल रहे हैं, उसके साथी न काम कर रहे हैं और न करने दे रहे हैं। क्योंकि इस हुकूमत का एक पहिया टेंपो, एक टैक्ट्रर व एक बैलगाड़ी का है। यह गाड़ी चलेगी कैसे, इसका अंदाजा आप सहज ही लगा सकते हैं। सियासी ताकत कमजोर होती है, तो निज़ाम बिगड़ जाती है। लोगों को हक़ नहीं मिल पाता। म्सिटर सोरेन इतवार को कुमारडुंगी के आरयूएम स्कूल में अवामी सभा को खिताब कर रहे थे।

हुकूमत की लड़ाई भी जीत लेंगे

मिस्टर सोरेन ने कहा अलग रियासत की लड़ाई तो हमने जीती है, अब हुकूमत की लड़ाई भी जीत लेंगे। काफी जद्दोजहद के बाद झामुमो ने कुरसी पायी है। अलग रियासत का तहरीक लड़ते वक़्त हमारे पूर्वजों ने आनेवाली पीढ़ी को खुशी देने की बात सोची थी, लेकिन रियासत की तशकील के बाद झारंखड को नेस्त नाबूद की तरफ ले जाया गया। अब और चैलेंज से भरा वक़्त आ गया है और वह चैलेंज तरक़्क़ी की है।

लोगों का तरक़्क़ी हुकूमत के सोच पर ही मूनहसर है। हमारी हुकूमत ने तय किया है तरक़्क़ी का पैमाना गांव से शुरू होकर शहर की तरफ आयेगा। पांच-छह माह में ही हमने इतनी लंबी लकीर खींच दी है। पांच साल का मौका मिले, तो हमारे तरफ से खींची जानेवाली लंबी लकीर मिटाने के लिए सियासी दलों को लोहे का चना चबाना पड़ेगा।

हेमंत सोरेन ने कहा कि खून, पेशाब, एक्स-रे, एमआरआइ तमाम तरह की जांच रियासत में अब मुफ्त होगी। सरकारी नौकरी की आस छोड़ कर नौजवान सरकारी मंसूबों का फाइदा उठायें। सभा को ट्रांसपोर्ट वज़ीर चंपई सोरेन, एमएलए दीपक बिरूवा, साबिक़ एमएलए नीरल पुरती ने भी खिताब किया।

TOPPOPULARRECENT