Thursday , December 14 2017

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे : 20 लड़ाकू विमानों का जंगी प्रदर्शन

लखनऊ : आगरा एक्सप्रेस वे पर भारतीय वायुसेना के विमान टेकऑफ और लैडिंग का अभ्यास कर रहे हैं। लखनऊ से आगरा को जोड़ने वाले 302 किलोमीटर के 6 लेन एक्सप्रेस-वे पर भारतीय वायुसेना के विमान C-130J हरक्यूलिस ने लैंडिंग की। यह नजारा देखने के लिए सैंकड़ों लोग जुटे।

भारतीय वायुसेना ने भारत के 12 नेशनल हाइवे को इमरजेंसी लैंडिंग के लिए चुना है। युद्ध में हाइवे को रनवे की तरह इस्तेमाल करने का अभ्यास के लिए। 1965 के युद्ध में पाकिस्तान द्वारा रनवे को तबाह करने के बाद भारतीय एयरफोर्स को काफी परेशान का सामना करना पड़ा था।

वैसे तो इस तरह का अभ्यास पिछले साल भी हो चुका है लेकिन इस बार की खासियत यह होगी कि इस बार अभ्यास करने वाले वायुसेना के कुल 17 से 20 विमानों में परिवहन विमान (एएन 32) भी शामिल हैं।

पहली बार किसी एक्सप्रेस-वे पर वायुसेना ऑपरेशनल अभ्यास कर रही है। पिछले 15 दिनों से इन 15 लड़ाकू विमानों के जांबाज पायलट कड़ा अभ्यास कर रहे थे।

दो सुपर हरक्यूलिस के बाद जगुआर को लैंड करते हुए लोगों ने अपने कैमरे में कैद किया। इस विमान को बहुत कम रनवे की जरूरत होती है। इस एक्सप्रेस वे की वजह से दिल्ली से लखनऊ की दूरी 6 घंटे में तय की जा सकती है।

रक्षा मंत्रालय (केंद्रीय कमान) की जनसंपर्क अधिकारी गार्गी मलिक सिन्हा ने बताया कि भारतीय वायुसेना आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे उन्नाव जिले के निकट यह अभ्यास करेगी। ‘इस अभ्यास में भारतीय वायुसेना के 20 विमान, लड़ाकू और परिवहन, हिस्सा लेंगे। इनमें मिराज 2000, जगुआर, सुखोई 30 और एएन-32 परिहन विमान शामिल होंगे।

सिन्हा ने बताया कि जो परिवहन विमान एक्सप्रेस वे पर अभ्यास में शामिल होंगे वे एएन 32 प्रकार के हैं जो मानवीय सहायता एवं आपदा राहत का काम करते हैं। इसका मतलब यह है कि अगर कभी बाढ़ या कोई अन्य दैवीय आपदा आ जाए तो यह विमान भारी मात्रा में राहत सामग्री लेकर जा सकते हैं। इसके अलावा किसी आपदा की स्थिति में लोगों के परिवहन की जरूरत होने पर भी इन विमानों का इस्तेमाल किया जाता है।

युद्ध जैसी आपातकालीन स्थिति में सड़कों पर ही विमानों को उतारने और उड़ान भरने के लिए पायलटों को तैयार करने के लिए यह अभ्यास किया जा रहा है। अभ्यास में परिवहन विमानों के साथ साथ लड़ाकू जेट भी शामिल होंगे।

TOPPOPULARRECENT