लखनऊ प्रदर्शन खत्म, महिलाओं ने कहा हम अपने दुप्पट्टे व बैनर छोड़ कर जा रहे !

लखनऊ प्रदर्शन खत्म, महिलाओं ने कहा हम अपने दुप्पट्टे व बैनर छोड़ कर जा रहे !

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते घंटाघर पर सीएए के विरोध में 66 दिनों से चल रहा महिलाओं का प्रदर्शन सोमवार सुबह खत्म हो गया। वहीं पुलिस ने महिलाओं को सुरक्षित उनके घर तक पहुचाया। महिलाओं का कहना है कि हालात सही होने पर वह दुबारा प्रदर्शन करेंगी। इससे पहले हिन्दुस्तान के माध्यम से प्रदर्शन में शामिल रही महिलाओं ने इसे खत्म करने की अपील की थी।

घंटाघर सुबह 7 बजे अचानक महिलाओ ने प्रदर्शन को खत्म कर दिया। प्रदर्शन खत्म करने की पुलिस की कोशिश भले ही कामयाब न हुई हो लेकिन उलमा और अन्य लोगों की अपील के बाद महिलाएं अपने घर लौट गई। महिलाओं की ओर से पुलिस कमिश्नर को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि कोरोना वायरस के चलते वह अपना प्रदर्शन खत्म कर रही है। सरकार जब हालात के बेहतर हो जाने का एलान करेगी। उसके बाद महिलाएं  दोबारा सीएए, एनआरसी के विरोध में घंटाघर पर प्रदर्शन करेंगी। वही, देर शाम आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष डॉ मौलाना कल्बे सादिक ने भी प्रदर्शन खत्म करने की अपील की थी। इसके अलावा टीले वाली मस्जिद के इमाम मौलाना फजलुल रहमान भी देर रात महिलाओं से मिलने गए थे और उनको कोरोना वायरस के प्रति जागरूक किया था।

हम अपने दुप्पट्टे व बैनर छोड़ कर जा रहे
महिलाओं ने कहा कि हम अपनी सामाजिक जिम्मेदारी के चलते यहां से हट रहे है, लेकिन सांकेतिक तौर पर अपने दुप्पटे और बैनर को यही छोड़ कर जा रहे है। महिलाओं ने पुलिस कमिशनर से अपील की है के वह महिलाओं की इन चीज़ों को यहां से न हटाये।

Top Stories