Wednesday , December 13 2017

लख्वी और दीगर की आवाज़ के नमूनों के लिए अर्ज़ी क़ुबूल

ईस्लामाबाद, 23 मार्च (पी टी आई) पाकिस्तानी प्रोसिक्युटर्स ने अदालत से रुजू होकर उन सात आदमीयों बाशमोल लश्कर-ए-तोएबा ऑप्रेशन कमांडर ज़की उर्रहमान लख्वी के आवाज़ के नमूने हासिल करने की इजाज़त चाही है, जिन पर 2008 के मुंबई हमलों में मुलव

ईस्लामाबाद, 23 मार्च (पी टी आई) पाकिस्तानी प्रोसिक्युटर्स ने अदालत से रुजू होकर उन सात आदमीयों बाशमोल लश्कर-ए-तोएबा ऑप्रेशन कमांडर ज़की उर्रहमान लख्वी के आवाज़ के नमूने हासिल करने की इजाज़त चाही है, जिन पर 2008 के मुंबई हमलों में मुलव्विस होने का इल्ज़ाम है।

वफ़ाक़ी तहक़ीक़ाती इदारा (एफ़ आई ए) के स्पेशल प्रॉसिक्यूटर चौधरी ज़ुल्फ़क़ार अली ने पेटीशन दाख़िल की, जिसे कल ईस्लामाबाद हाईकोर्ट ने बाक़ायदा समाअत के लिए क़ुबूल कर लिया। अर्ज़ी में अदालत से मज़ीद गिज़ारिश की गई कि हिंदुस्तानी शहरी फ़हीम अंसारी को इश्तेहारी मुजरिम या मफ़रूर क़रार दिया जाए।

दो जजों की बेंच ने सात मुश्तबा मुल्ज़िमीन को नोटिसें जारी किए कि एफ़ आई कैपिटेशन पर जवाब दें। आवाज़ के नमूनों को नजरअंदाज़ कर दिया जाए तो इस्तिग़ासा उन मुल्ज़िमीन के जुर्म को साबित नहीं कर सकता है।

TOPPOPULARRECENT