Monday , December 18 2017

ललित मोदी सदर मुंतख़ब हुए

इंडियन प्रीमियर लीग के साबिक़ और मुतनाज़ा कमिशनर ललित मोदी जोकि ख़ुद पर ताहयात पाबंदी के बाद बैरून मुल्क रिहायश इख़तियार करने पर मजबूर हुए थे आज वो राजिस्थान क्रिकेट एसोसीएश‌ण (आर सी ए) के सदर मुंतख़ब हुए हैं लेकिन उनके सदर मुंतख़ब ह

इंडियन प्रीमियर लीग के साबिक़ और मुतनाज़ा कमिशनर ललित मोदी जोकि ख़ुद पर ताहयात पाबंदी के बाद बैरून मुल्क रिहायश इख़तियार करने पर मजबूर हुए थे आज वो राजिस्थान क्रिकेट एसोसीएश‌ण (आर सी ए) के सदर मुंतख़ब हुए हैं लेकिन उनके सदर मुंतख़ब होने के फ़ौरी बाद बी सी सी आई ने आर सी ए को ही मुअत्तल करदिया है।

मोदी ने उम्मीद‌ के मुताबिक़ आर सी ए के इंतिख़ाबात में एक शानदार कामयाबी हासिल की है, जैसा कि सुप्रीम कोर्ट ने आज इंतिख़ाबात के नताइज के ऐलान के लिए हरी झंडी दिखाई दी थी जिसके बाद इंतिख़ाबात के ऐलान में मोदी ने 24-5 वोटों के साथ एक शानदार कामयाबी हासिल की है जबकि ये इंतिख़ाबात तकरीबन 4 माह क़बल हुए थे।

इंतिख़ाबात का ऐलान अदालत की जानिब से मुंतख़ब मुबस्सिर जस्टिस (सबकदोश) एन एम कसलीवाल ने यहां आज किया है। ऐलान के साथ ही जैसा कि उम्मीद की जा रही थी कि बी सी सी आई और ललित मोदी के बीच‌ एक और क़ानूनी जंग का आग़ाज़ होगा| ऐसा ही ऐलान के बाद हुआ है, जहां एक जानिब मोदी ने आर सी ए इंतिख़ाबात में एक शानदार कामयाबी हासिल की वहीं इस कामयाबी के फ़ौरन बाद बी सी सी आई ने आर सी ए पर ही पाबंदी आइद करदी है।

सदर के ओहदा के लिए जुमला 33 वोटों में ललित मोदी के हरीफ़ उम्मीदवार राम पाल शर्मा को सिर्फ़ 5 वोट हासिल हुए हैं। आर सी ए के इंतिख़ाबात के नताइज के ऐलान के चंद घंटों में ही बी सी सी आई ने आर सी ए को ग़ैर मुऐयना मुद्दत के लिए मुअत्तल करते हुए एक अढाक कमेटी तश्कील दी है जोकि बोर्ड के सरगर्मियों को अंजाम देगी।

बी सी सी आई के सेक्रेटरी संजय पटेल ने अपने एक बयान में कहा है कि मुल्क की बावक़ार अदालत सुप्रीम कोर्ट के ऐलान 30 अप्रेल 2014 जिस में कहा गया है कि अगर कोई शख़्स बी सी सी आई के क़ानून क़वाइद-ओ‍ज़वाबित के ख़िलाफ़ कोई अमल करता है तो उस के ख़िलाफ़ बी सी सी आई को ये इख़तियार रहेगा कि वो इसके ख़िलाफ़ कार्रवाई करे।

इसी ज़िमन में बी सी सी आई ने अपने क़वाइद के मुताबिक़ आर सी ए को मुअत्तल करते हुए अढाक कमेटी तश्कील दी है। बी सी सी आई से जारी करदा बयान में मज़ीद कहा गया है कि मुल्क में क्रिकेट के मुफ़ादात को ज़हन में रखते हुए और उसकी बक़ा के लिए बी सी सी आई ने ये इक़दाम किया है और मुस्तक़बिल में इस किस्म के वाक़ियात के सद्द-ए-बाब के लिए सख़्त इक़दामात करते हुए अढाक कमेटी का ऐलान करदिया है जिस की तश्कील अनक़रीब अमल में आएगी।

बी सी सी आई की जानिब से आर सी ए पर आइद पाबंदी के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई का हवाला देते हुए आर सी ए के नौमुंतख़ब डिप्टी सदर महमूद आब्दी ने आज कहा है कि बी सी सी आई के फैसले को कोर्ट में चैलेंज किया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद जैसे ही आर सी ए के इंतिख़ाबात का ऐलान किया गया इस के चंद घंटों में ही बी सी सी आई ने आर सी ए पर पाबंदी आइद करदी है और हम इस पाबंदी के ख़िलाफ़ अदालत में चैलेंज करेंगे।

महमूद आब्दी ने मज़ीद कहा कि बी सी सी आई का फैसला सहीह नहीं है, जिसके ख़िलाफ़ आर सी ए तमाम मुम्किना क़ानूनी कार्रवाई को यक़ीनी बनाएगा। आब्दी ने कहा कि बी सी सी आई के फैसले से काफ़ी मायूसी हुई है और हम इस फैसले के ख़िलाफ़ हाइकोर्ट में अपनी दरख़ास्त दाख़िल करेंगे|

TOPPOPULARRECENT