लादेन को मारना आसान नहीं था: हिलरी क्लिंटन

लादेन को मारना आसान नहीं था: हिलरी क्लिंटन

वाशिंगटन डीसी: डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से अमेरिकी राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने 9.11 हमले की 15वीं बरसी से पहले कहा कि अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन के खिलाफ पाकिस्तान में अभियान ‘‘आसान फैसला नहीं’’ था।

पूर्व विदेश मंत्री ने कहा, ‘‘मैं उस छोटे समूह का हिस्सा थी जो राष्ट्रपति :बराक: ओबामा को सलाह दे रहा था कि ओसामा बिन लादेन को आखिरकार दंडित करने की कोशिश के तहत पाकिस्तान में घुसने का जोखिम लेने के लिए हमारी खुफिया जानकारी पर्याप्त है या नहीं।’’ उन्होंने नॉर्थ कैरोलिना प्रांत में एक चुनाव रैली में कहा, ‘‘यह किसी भी तरह से एक आसान फैसला नहीं था। ये कभी नहीं था।’’ हिलेरी ने 9.11 हमले का मास्टरमाइंड ओसामा के खिलाफ पाकिस्तान के एबटाबाद में एक गुप्त ठिकाने पर अमेरिकी सैन्य अभियान से जुड़ी भीतरी जानकारी देते हुए कहा, ‘‘इसलिए उस तरह के हालात को लेकर फैसले लेने के लिए कमरे :सिचुऐशन रूम: में बातचीत का नेतृत्व करने वाले के पास रूख से तथ्य अलग करने की क्षमता होनी चाहिए, उसमें कड़े सवाल पूछने की क्षमता होनी चाहिए, सबसे मुश्किल सुरागों पर आगे बढ़ने की क्षमता होनी चाहिए।’’ दो मई, 2011 को चलाए गए अभियान में ओसामा को मौत के घाट उतार दिया था।

(भाषा)

Top Stories