लालकृष्ण आडवाणी के ब्लॉग पर पीएम मोदी ने कही ये बात !

लालकृष्ण आडवाणी के ब्लॉग पर पीएम मोदी ने कही ये बात !

बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने 6 अप्रैल को भाजपा के स्थापना दिवस से पहले आज एक ब्लॉग लिखा. अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकृष्ण आडवाणी के लिखे ब्लॉग पर प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया है. इसमें उन्होंने आडवाणी की तारीफ की है और पार्टी के लिए कहे गए उनके शब्दों को सराहा है.

पीएम मोदी ने ट्वीट में लिखा है कि आडवाणी जी ने एकदम उत्तम रूप में बीजेपी के सार को बताया है. खास तौर पर बीजेपी का मार्गदर्शन करने वाला मंत्र देश प्रथम स्थान पर, फिर पार्टी और उसके बाद अंत में स्वयं को रखने के बारे में बताया है. मुझे बीजेपी का कार्यकर्ता होने पर और इस बात पर गर्व है कि महान नेता लालकृष्ण आडवाणी ने इसे मजबूत किया है.

क्या है लालकृष्ण आडवाणी के ब्लॉग में
बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने लम्बे समय बाद एक ब्लॉग लिखा और कहा है कि उनकी पार्टी ने राजनीतिक रूप से असहमत होने वाले को कभी ‘राष्ट्र विरोधी’ नहीं माना है. लालकृष्ण आडवाणी ने लिखा कि अपनी स्थापना से ही भाजपा में जो लोग राजनीतिक रूप से हमारे विचार को नहीं मानते को अपने दुश्मन नहीं बल्कि अपने विपक्षी के तौर पर देखा

‘नेशन फर्स्ट, पार्टी नेक्स्ट, सेल्फ लास्ट (राष्ट्र प्रथम, फिर पार्टी, स्वयं अंत में)’ शीर्षक से अपने ब्लॉग में आडवाणी ने कहा, ”भारतीय लोकतंत्र का सार विविधता और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिये सम्मान है.

पार्टी व्यक्तिगत और साथ ही राजनीतिक स्तर पर हर नागरिक की स्वतंत्रता के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने लिखा कि यह मेरी दिल से इच्छा है कि हम सभी को सामूहिक रूप से भारत के लोकतांत्रिक ढांचे को मजबूत करने का प्रयास करना चाहिए. सच है, चुनाव लोकतंत्र का त्योहार है.

आडवाणी ने कहा, ”इसी प्रकार से राष्ट्रवाद की हमारी धारणा में हमने राजनीतिक रूप से असहमत होने वालों को ‘राष्ट्र विरोधी’ नहीं माना. पार्टी (बीजेपी) व्यक्तिगत और राजनीतिक स्तर पर प्रत्येक नागरिक की पसंद की स्वतंत्रता को प्रतिबद्ध रही है.” आडवाणी ने अपना यह ब्लॉग ऐसे समय में लिखा है जब छह अप्रैल को बीजेपी का स्थापना दिवस मनाया जायेगा और 11 अप्रैल से लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिये मतदान होना है.

लालकृष्ण आडवाणी को इस बार लोकसभा चुनाव में पार्टी ने टिकट नहीं दिया है और उनकी पारंपरिक गांधीनगर सीट से बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह चुनाव लड़ रहे हैं. आडवाणी ने 1991 से छह बार लोकसभा में निर्वाचित करने के लिये गांधीनगर के मतदाताओं के प्रति आभार प्रकट किया.

वरिष्ठ बीजेपी नेता ने कहा कि पार्टी के भीतर और वृहद राष्ट्रीय परिदृश्य में लोकतंत्र और लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा बीजेपी की विशिष्टता रही है. इसलिये बीजेपी हमेशा मीडिया समेत सभी लोकतांत्रिक संस्थाओं की स्वतंत्रता, निष्पक्षता और उनकी मजबूती को बनाये रखने की मांग में सबसे आगे रही है.

पूर्व उपप्रधानमंत्री ने कहा कि राजनीतिक और चुनावी फंडिंग में पारदर्शिता सहित चुनाव सुधार भ्रष्टाचार मुक्त राजनीति के लिये उनकी पार्टी की एक अन्य प्राथमिकता रही है. उन्होंने कहा, ”संक्षेप में पार्टी के भीतर और बाहर सत्य, निष्ठा और लोकतंत्र के तीन स्तम्भ संघर्ष से मेरी पार्टी के उद्भव के मार्गदर्शक रहे हैं. इन मूल्यों का सार सांस्कृतिक राष्ट्रवाद और सुराज में निहित है जिस पर मेरी पार्टी अडिग रही है.”

आडवाणी ने कहा कि आपातकाल के खिलाफ अभूतपूर्व संघर्ष इन मूल्यों का प्रतीक रहे हैं. उन्होंने कहा कि उनकी इच्छा है कि सब समग्र रूप से भारत के लोकतांत्रिक ढांचे को मजबूती प्रदान करें. आडवाणी ने 2015 के बाद पहली बार अपने ब्लॉग पर कोई पोस्ट डाली है.

Top Stories