Tuesday , January 23 2018

लालू के खानदान में अब कोई सीएम नहीं बन सकता : चौबे

जेल से निकलते ही लालू प्रसाद मुखतलिफ़ सियासी पार्टियों को धमका रहे हैं। वह अपनी जागीरदार ज़ेहनीयत को एक बार फिर सबके सामने ज़हीर किया है। रहनुमा कहलाने वाले लालू को नहीं भूलना चाहिए कि वह कैदी नंबर 793 थे और जेल से बाहर आते ही लंगोट पहन

जेल से निकलते ही लालू प्रसाद मुखतलिफ़ सियासी पार्टियों को धमका रहे हैं। वह अपनी जागीरदार ज़ेहनीयत को एक बार फिर सबके सामने ज़हीर किया है। रहनुमा कहलाने वाले लालू को नहीं भूलना चाहिए कि वह कैदी नंबर 793 थे और जेल से बाहर आते ही लंगोट पहन कर ताल ठोंकने लगे हैं। उनकी लंगोट की दोनों डोरी टूट चुकी है। वह नकली लंगोट पहन कर ताल ठोंक रहे हैं। यह बातें साबिक़ वज़ीर और एमएलए अश्विनी कुमार चौबे ने जुमा को खलीफाबाग चौक वाक़ेय भाजपा दफ्तर में सहाफियाओं से कही। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद एक मुल्ज़िम हैं और पार्टियों को धमका रहे हैं। उनकी जमानत तुरंत रद्द होनी चाहिए।

कांग्रेस के इशारे पर मिली जमानत

साबिक़ वज़ीर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में लालू की जमानत का मुखालिफत सीबीआई ने नहीं किया। यह ज़हीर है कि सीबीआई कांग्रेस के इशारे पर काम करती है। मुल्क भर में अवामी मकबूलियत खो चुकी कांग्रेस अब इस हद तक गिर चुकी है कि दागी पार्टियों से भी इत्तिहाद करने से परहेज नहीं कर रही हैं। इसी कड़ी में लालू को जेल से बाहर निकलवाया, ताकि दोनों इंतिखाबी इत्तिहाद कर सके।

लालू प्रसाद पर निशाना लगाते हुए साबिक़ वज़ीर ने कहा कि जेल से छूटने के बाद उनके बेटे तेजस्वी ने अपने वालिद का इस्तकबाल लौंडा डांस करवा कर किया। सवाल करते हुए कहा कि क्या यहीं हमारी कल्चर है? तेजस्वी में अच्छे क़दर कर और भी उसका मुस्तकबिल रोशन बना सकते थे। उन्होंने जोर देकर कहा कि लालू के खानदान में अब कोई भी वजीरे आला नहीं बन सकता।

TOPPOPULARRECENT