Monday , January 22 2018

लालू, तेजस्वी, तेजप्रताप पर हुआ मुकदमा सरकार ने लिया वापस

पटना : बिहार सरकार ने राजद सरबराह लू प्रसाद, नायब वज़ीरे आला तेजस्वी यादव और सेहत वजीर तेज प्रताप यादव समेत 262 राजद कर्कुनान के खिलाफ
अदालत में चल रहे एक मुजरिमाना मुकदमा को वापस ले लिया है। सरकार के इस हुक्म के तहत ओहदेदार ने पटना सीजेएम की अदालत में एक दरख्वास्त दाखिल कर यह मुजरिमाना मुकदमा वापस लेने और मुल्ज़िमान को इल्ज़ाम से आज़ाद करने की दरख्वास्त किया।

इस दरख्वास्त पर सुनवाई करने के बाद पटना सीजेएम ने मुलजिम राजद सरबराह लालू प्रसाद यादव, नायब वज़ीरे आला तेजस्वी यादव, सेहत वजीर तेज प्रताप
यादव, एम्एलए भोला यादव समेत 262 मुलजिमान राजद कार्कुनान को इलज़ाम से आज़ाद कर दिया। साथ ही उनके खिलाफ चल रहे मुजरिमाना मुकदमा का शट आउट कर दिया।

बिहार बंद के दौरान सड़क पर मुज़ाहिरे के इस मुजरिमान मामले में पुलिस ने राजद सरबराह लालू प्रसाद यादव समेत 262 राजद कार्कुनान के खिलाफ गैर
जमानतीय दफा में चार्जशीट किया था। इसके बाद अदालत ने तमाम मुलजिमान के खिलाफ नोटिस लेकर उनकी हाजिरी के लिए सम्मन जारी करने का हुक्म दिया था।

27 जुलाई 2015 को राजद के एलान पर बिहार बंद का इन्काद किया गया था। बंद के हिमायत में राजद कार्कुनान ने कोतवाली थाना इलाके के सड़क और
डाकबंगला के पास सड़क जाम कर मुश्तयिल मुजाहिरा किया। इस दौरान मुज़ाहिरीन पर कार्रवाई नही करने और पुलिस की सरगर्मी को लेकर पटना हाईकोर्ट ने
नोटिस लिया था। इसके बाद पटना पुलिस ने फौरी कारवाई करते हुए राजद सरबराह लालू प्रसाद समेत कई बडे़ राजद लीडरों के खिलाफ कोतवाली थाना के इंस्पेक्टर रमेश प्रसाद सिंह ने अपने बयान पर थाने में एक मामला दर्ज किया था।

इस मामले में पुलिस ने मामला सही पाते हुए राजद सरबराह लालू प्रसाद, उनके दोनों बेटे तेज प्रताप और तेजस्वी यादव, एम्एलए भोला यादव, राजद रियासती
सदर रामचन्द्र पूर्वे , जेनरल सेक्रेटरी मुन्द्रिका सिंह, राहुल तिवारी, फुलवारी के उमेश यादव, अनिल कुमार, कंचन देवी , श्रवण यादव , सुनील यादव , चन्दन यादव
समेत 262 राजद कार्कुनान के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट किया था। पुलिस ने इस मामले में दीगर राजद कार्कुनान के खिलाफ तहकीकात जारी रखा है।

 

 

TOPPOPULARRECENT