Monday , December 11 2017

लालू-नीतीश के पाप गले मिलने से नहीं धुलेंगे : मोदी

साबिक़ नायब वज़ीरे आला सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि जानवरों के मेला के लिए मशहूर हाजीपुर में राजद सरबराह लालू प्रसाद और साबिक़ वज़ीरे अाला नीतीश कुमार ने पीर को गले मिलने का जो ड्रामा किया, उससे बिहार पर जंगलराज थोपने के गुनाह नहीं धु

साबिक़ नायब वज़ीरे आला सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि जानवरों के मेला के लिए मशहूर हाजीपुर में राजद सरबराह लालू प्रसाद और साबिक़ वज़ीरे अाला नीतीश कुमार ने पीर को गले मिलने का जो ड्रामा किया, उससे बिहार पर जंगलराज थोपने के गुनाह नहीं धुलेंगे। फेसबुक और ट्विटर पर भेजे अपने पोस्ट में मिस्टर मोदी ने कहा कि इनका मिलना कोई भरत मिलाप नहीं, बल्कि कर्ण-दुर्योधन मिलाप है।

ऐसा मिलाप करने वाले लोग खुद मिट जाते हैं। साबिक़ वज़ीरे आला ने लिखा है कि लालू-नीतीश एक दूसरे को भाई बताते हैं। दोनों ने आधे मन से ही सही, अगर साथ चलना क़ुबूल किया है, तो इन्हें ऐसी सियासत की मजबूरी पैदा करने के लिए वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी को शुक्रिया अदा करना चाहिए । मिस्टर मोदी ने कहा है कि अगर लालू प्रसाद ने मंडलवाद का झांसा देकर 15 साल तक बिहार को गुंडागर्दी और गरीबी का यरगमाल बनाए रखा तो नीतीश कुमार ने सेक्युलर का बहाना बनाकर जंगलराज-2 का रास्ता तैयार कर दिया।

दोनों ने सिर्फ अपनी इक्तिदार बचाने के लिए हाथ मिलाया है। बीस साल तक एकदूसरे को खरी-खोटी सुनाने वाले इन लीडरों ने मेल-मिलाप से साल २००५ और 2010 के अवामी रुझान का मखौल बिगाड़ा है।

TOPPOPULARRECENT