Monday , June 25 2018

लालू पर 30 को फैसला, मुज़रिम होने पर फौरी तौर पर लिया जायेगा हिरासत में

चारा घोटाले के कांड नंबर आरसी 20 ए/96 में सीबीआइ की खुसूसी अदालत 30 सितंबर को अपना फैसला सुनायेगी। खुसूसी जज पीके सिंह ने फैसला सुनाये जाने के दिन मुलजिमों को अदालत में मौजूद होने का हुक्म दिया है। मामले में बिहार के साबिक़ वज़ीरे आल

चारा घोटाले के कांड नंबर आरसी 20 ए/96 में सीबीआइ की खुसूसी अदालत 30 सितंबर को अपना फैसला सुनायेगी। खुसूसी जज पीके सिंह ने फैसला सुनाये जाने के दिन मुलजिमों को अदालत में मौजूद होने का हुक्म दिया है। मामले में बिहार के साबिक़ वज़ीरे आला लालू प्रसाद, जगन्नाथ मिश्र समेत कुल 45 मुल्ज़िम हैं।

लालू को दिया घंटे भर का वक़्त : इससे पहले मंगल को सीबीआइ ने मुकर्रर पांच दिनों के बदले एक ही घंटे में अपना हक़ रख दिया। अदालत से फैसला सुनाने की तारीख तय करने का दरख्वास्त किया।

मामले में सुप्रीम कोर्ट की हिदायत पर मुल्जिमान को अपना हक़ रखने के लिए 15 दिनों का वक़्त दिया गया था। इसकी मुद्दत 16 सितंबर को खत्म हो गयी थी। मुल्जिमान के सवालों का जवाब देने के लिए सीबीआइ को 17 सितंबर से पांच दिनों का वक़्त दिया गया था। पर सीबीआइ ने पहले ही दिन एक ही घंटे में अपना हक़ रख दिया। साथ ही लालू प्रसाद के खास दरख्वास्त पर उन्हें अपना हक़ रखने के लिए अपने ही वक़्त में से एक घंटे का वक्त दिया।

TOPPOPULARRECENT