लाल चौक में तिरंगा फहराने आए शिवसेना के 9 लोग हिरासत में

लाल चौक में तिरंगा फहराने आए शिवसेना के 9 लोग हिरासत में

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में लाल चौक पर तिरंगा फहराने गए शिव सैनिकों को हिरासत में लिया गया है। पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला की चुनौती के बाद शिवसैनिक लाल चौक पर तिंरगा फहराने गए थे. फारूक अब्दुल्ला ने पिछले दिनों केंद्र सरकार को चुनौती देते हुए कहा था कि केंद्र सरकार श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा फहराकर दिखाए, इस प्रतिक्रिया के बाद ही शिवसेना की ओर से यह कदम उठाया गया है. फारूक अब्दुल्ला ने 27 नवंबर को केंद्र की मोदी सरकार को चुनौती दी कि वह पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में तिरंगा फहराने की बातें करने से पहले श्रीनगर के लाल चौक पर तिंरगा फहराकर दिखाए. फारूक ने PoK को लेकर की गई अपनी पिछली विवादित टिप्पणी का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने सिर्फ सच सामने रखा है. फारूक ने हाल में कहा था कि पीओके किसी के बाप का नहीं है, वह भारत का हिस्सा कभी नहीं बन सकता.

आपको बता दें कि शिव सेना (बाल ठाकरे) की प्रदेश इकाई के प्रमुख डिंपी कोहली ने गत मंगलवार को जम्मू में बताया था कि उनके संगठन का एक विशेष दल लालचौक में तिरंगा फहराने के लिए श्रीनगर के लिए रवाना हो चुका है। जम्मू से आए शिव सैनिकों ने आज दोपहर को तिरंगा फहराना था। लेकिन वह आज सुबह ही लालचौक पहुंच गए थे। इससे पहले कि वह तिरंगा फहराते और वहां मौजूद लोगों को संबोधित करते पुलिस ने उन्हें तुरंत हिरासत में ले लिया।

शिव सैनिकों ने कहा कि नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारुक अब्दुल्ला ने गत माह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत पूरे देश को लाल चौक में तिरंगा फहराने क चुनौती दी थी। हम उसी चुनौती का जवाब देने आए थे। लेकिन यहां राज्य सरकार ही तिरंगा फहराने के खिलाफ है,तभी हम लोगों को इसकी इजाजत नहीं दी गई।

Top Stories