Friday , May 25 2018

लीबिया में अवामी बग़ावत का साद क़ज़ाफ़ी का इंतिबाह

तराबल्स 12 फ़रवरी ( एजैंसीज़) मरहूम मुअम्मर क़ज़ाफ़ी के फ़र्ज़ंद साद क़ज़ाफ़ी ने आज इंतिबाह देते हुए कहा कि लीबिया में अवामी बग़ावत के इमकानात को मुस्तर्द नहीं किया जा सकता । वो अवाम के साथ मुसलसल राबिता में हैं और उन्हें ये जान क

तराबल्स 12 फ़रवरी ( एजैंसीज़) मरहूम मुअम्मर क़ज़ाफ़ी के फ़र्ज़ंद साद क़ज़ाफ़ी ने आज इंतिबाह देते हुए कहा कि लीबिया में अवामी बग़ावत के इमकानात को मुस्तर्द नहीं किया जा सकता । वो अवाम के साथ मुसलसल राबिता में हैं और उन्हें ये जान कर बेहद अफ़सोस होरहा है उन के वालिद को माज़ूल कर के जिन लोगों को इक़तिदार के मस्नद पर बिठाया गया है वो नाक़ाबिल क़बूल हैं ।

बज़रीया टेलीफ़ोन अलार बया टी वी से बात करते हुए साद कज़्ज़ाफ़ी ने कहा कि वो गुज़शता साल अगस्त में तरह बुल्स पर बाग़ी अफ़्वाज के क़ाबिज़ होजाने के बाद वहां से निकल भागते थे और नाईजर में पनाह ली थी । याद रहे कि साद ने लीबिया की बग़ावत के काफ़ी अर्सा बाद पहली बार अवाम से बात की ।

मिस्टर साद के मुताबिक़ नाईजर से वो अफ़ोज NTC और क़ज़ाफ़ी ख़ानदान के दीगर अरकान से मुसलसल रब्त में रहे । बातचीत के दौरान ये पता लगाना मुश्किल था कि साद का महल वक़ूअ किया है ।

उन्हों ने इद्दिआ किया कि लीबिया में अब जो अवामी बग़ावत होगी वो किसी एक मख़सूस इलाक़ा तक महिदूद नहीं होगी बल्कि मशरिक़ ,मग़रिब शुमाल और जुनूब के तमाम इलाक़ों का अहाता करेगी।

TOPPOPULARRECENT