Friday , December 15 2017

लेप टाप का मुसलसल इस्तिमाल मर्द / ख़वातीन में बांझपन का सबब

इन्फॉर्मेशन टेक्नालोजी शोबा से वाबस्ता अफ़राद में लेप टाप के शदीद इस्तिमाल से मर्द हज़रात में मर्दाना कमज़ोरी और ख़वातीन में बांझपन के नुमायां पाए जा रहे हैं। डाक्टर प्रीति रेड्डी फ़रटेलेटी स्पेशल सटरेनबो हॉस्पिटल्स ने बताया कि आ

इन्फॉर्मेशन टेक्नालोजी शोबा से वाबस्ता अफ़राद में लेप टाप के शदीद इस्तिमाल से मर्द हज़रात में मर्दाना कमज़ोरी और ख़वातीन में बांझपन के नुमायां पाए जा रहे हैं। डाक्टर प्रीति रेड्डी फ़रटेलेटी स्पेशल सटरेनबो हॉस्पिटल्स ने बताया कि आई टी शोबा ख़ासकर शहरों में आई टी इंडस्ट्री में काम अंजाम देने वाले मर्द-ओ-ख़वातीन में गुज़शता दो दहों में इस बात को नोट किया गया है कि बांझपन में 50 फ़ीसद इज़ाफ़ा देखा गया है।

उस की अहम वजह तर्ज़-ए-ज़िदंगी , पोलुय्वशन और लेप टाप और wifi का मुसलसल इस्तिमाल है । मर्द हज़रात का घरों में मुसलसल घंटों लेप टापपर बैठे रहना , कम सोना मर्दों में मर्दाना कमज़ोरी की वजह बिन रहा है । डाक्टर रोमा सिन्हा ने बताया लेप टाप पर मुसलसल घंटों काम करने से जर सोमों की हलाकत वाक़ै होजाती है।

लेप टाप से निकलने वाला रेडीशन जरसूमों के लिये हलाकत ख़ेज़ साबित होता है । डाक्टर रोमा सिन्हा गयाना लोजिस्ट अपोलो हॉस्पिटल ने बताया कि आई टी शोबा से वाबस्ता ख़वातीन की अक्सरियत डेस्क पर बैठी मुसलसल काम करती रहती हैं उन के तर्ज़-ए-ज़िदंगी और जिस्मानी हरकात की कमी के सबब इन में बांझपन के असरात पाए जा रहे हैं ।

TOPPOPULARRECENT