Wednesday , December 13 2017

लॉस बेगस गोलीबारी में IS के हाथ होने के दावे को अमेरिका ने किया खारिज

लास वेगास। अमरीका के इतिहास में अबतक की सबसे भीषण गोलीबारी की घटना हुई है। लास वेगास के मांडले बे रिजॉर्ट व कैसीनो परिसर में सोमवार को चल रहे संगीत समारोह ‘रूट 91 हार्वेस्ट कंट्री म्यूजिक फेस्टिवल’ के जश्न में लोग डूबे थे, तभी सडक़ उस पार करीब 500 मीटर की दूरी पर स्थित एक होटल की 32वीं मंजिल से एक शख्स ने स्वचालित रायफल से अंधाधुंध फायरिंग करनी शुरू कर दी।

पल भर में ही जश्र मातम में तब्दील हो गया। इस गोलीबारी में कम से कम 58 लोगों की मौत हो गई जबकि 500 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। इस समारोह में उस वक्त करीब 40,000 लोग जमा थे।

यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर हॉस्पिटल में भर्ती कराए गए घायलों में से 14 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। हालांकि, बाद में हमलावर 64 वर्षीय स्टीफन पैडॉक ने खुद को गोली मार ली।

इधर हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन ISIS ने ली थी। लेकिन कुछ ही समय बाद अमरीकी जांच एजेंसी FBI ने आतंकी हमले को खारिज कर दिया। FBI ने कहा कि यह कोई आतंकी हमला नहीं था।

वहीं अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने देश के नाम अपने संबोधन में इस गोलीबारी घटना को राक्षसी कृत्य करार देते हुए इसकी कड़ी निंदा की।
फिलहाल, आतंकी सगठन इस्लामिक स्टेट ने हमले की जिम्मेदारी ली है। आईएस ने दावा किया है कि पैडॉक ने हाल ही में धर्म परिवर्तन कर लिया था।

TOPPOPULARRECENT