Thursday , December 14 2017

लॉ कमीशन ऑफ इंडिया का जवाब देने मजलिस का फैसला

हैदराबाद 14 अक्टूबर: मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन विधि आयोग ऑफ इंडिया की ओर से जारी प्रश्नावली का जवाब देगी। सदर मजलिस असद ओवैसी ने घोषणा किया उनकी पार्टी ने फैसला किया है कि विधि आयोग ऑफ इंडिया द्वारा जारी प्रश्नावली का जरूर जवाब दिया जाएगा।

उन्होंने समान सिविल कोड का विरोध करने का भी घोषणा किया है लेकिन कहा कि उनकी पार्टी ने फैसला लिया है कि उनकी पार्टी विधि आयोग ऑफ इंडिया के प्रश्न का जवाब देगी और जवाब तैयार किया जार हा है। मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने विधि आयोग ऑफ इंडिया के प्रश्नावली को जटिल और भ्रामक करार देते हुए इसका बहिष्कार करने का घोषणा किया है।

असद ओवैसी खुद भी ऑल पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य हैं। उन्होंने मीडिया के प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए कहा कि देश में यकसाँ सिविल कोड के मामले को सिर्फ मुसलमानों की नजर से नहीं देखा जाना चाहिए क्योंकि देश की एकता में हिंदू दलित व अन्य तबक़ात की तहज़ीब भी मौजूद है।

मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने विधि आयोग ऑफ इंडिया के प्रश्न पर जवाब दाखिल करने का घोषणा करते हुए स्पष्ट किया है कि वह इस प्रक्रिया का हिस्सा बनेगी और आयोग को अवगत कराएगी।

बताया जाता है कि मजलिस ने विधि आयोग के प्रश्न के जवाब का निर्माण की प्रक्रिया भी शुरू कर दिया है और सदर मजलिस ने कहा कि उत्तर तैयार होने के बाद आयोग को रवाना कर दिया जाएगा और आयोग को रवाना किया प्रत्युत्तर विवरण से मीडिया को भी परिचित करवाया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT