Thursday , November 23 2017
Home / India / लोकसभा और राज्य सभा में उठाया जाऐगा डिगरहेड़ी मुद्दा

लोकसभा और राज्य सभा में उठाया जाऐगा डिगरहेड़ी मुद्दा

मेवात (हरियाणा) 21 सितंबर | सीपीआईएम पार्टी दो सदस्य सांसदों का एक प्रितिनिधि मंडल बुधवार को मेवात जिला पहुंचा। इस मौके पर प्रतिनिधिमंडल ने मेवात के एसपी और डीसी से डीगरहेेडी मामले कि जानकारी हासिंल की वहीं बाद में उन्होने नूंह के बार रूम में बार के सदस्यों से डीगरहेडी कैस के मामले में फीडबैक लिया। उसके बाद एक पत्रकारवार्ता में सीपीआईएम के सांसदों ने डीगरहेडी की घटना को आरएसएस और गो रक्षा से जुड़े लोगो द्वारा एक सुन्योजित तरीके से अंजाम दिए जाने का आरोप लगाया। गैंग रैप और हत्याकांड में को गौ रक्षा दल और आरएसएस से जुडे लोगों को सरकार और प्रशासन का संरक्षण प्राप्त होने का भी आरोप लगाया।
सीपीआईएम के सांसददों ने इस मामले को उनके सहयोगी पार्टियों के साथ मिलकर लोकसभा और राज्य सभा में उठाने की बात कही। उन्होने इस घटना में गौरक्षा दल और आरएसएस के लोगों के जुडे होने का आरोप लगाते हुऐ कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भी आरएसएस के सदस्य रहे हैं कहीं इस मामले में उनकी तो संलिप्ता नहीं है। उनकी पार्टी इस मामले को मानव अधिकार आयोग और अल्पसंख्यक आयोग में भी शिकायत करेगी।
डिगरहेड़ी के डबल मर्डर और डबल गैंग रेैप मामले को सीएम खट्टर द्वारा मामूली घटना बताये जाने पर उन्होने सवाल उठाये कहा कि इतना बडे कांड को सीएम मामूली कहते हैं। आखिर वे कितने बडे घटना का इंतजार कर रहे हैं। उन्होने सीएम द्वारा दिये गये ब्यान को आरोपियों को बचाने और केस को कमजोर करने के लिए दिया गया ब्यान बताया। उन्होने पुलिस की जांच और कार्रवाई पर भी सवालिया निशान लगाये है। उन्होने कहा कि जिस तरीके से पुलिस ने काफी देरी से एफआईआर दर्ज कि और पीडित लडकियों के मेडिकल को जल्दबाजी में करके पूरे इंजरी ने दिखाने और उसी दिन 164 के ब्यान दर्ज कराने पर भी सवाल उठाये।
सांसद बदरूदुजा खान और पूर्व राज्य सभा सांसद निलोत्पल बसु ने बताया कि उन्होने मेवात के एसपी और डीसी से डींगरहेडी के सारे मामले कि जानकारी हांसिल की। उन्होने कहा कि डीसी और एसपी ने इस मामले में ज्यादा कुछ बताने कि बजाये चुप्पी ही साधे रखी। प्रसाशन के अधिकारियों ने बताया कि सरकार ने इस मामले को सीबीआई को सौंप दिया है इस लिये स्थानीय पुलिस का इस मामले से कोई सरोकार नहीं हैं। उन्होने कहा कि अगर प्रसाशन सीबीआई को रिपोर्ट में पुलिस की लापरवाही दिखाकर आपनी रिपोर्ट सीबीआई को सौंपती है तो कैस में कुछ दम होगा। उन्होने कहा कि डिगरहेड़ी के लोगो को सीबीआई से नहीं बल्कि न्यायिक जांच से ही इंसाफ मिल सकता है क्योंकि सीबीआई भी दवाब में काम करती है।
उन्होने कहा उनकी टीम ने गंाव डीगरहेडी दौरा कर देखा तो पता चला कि मेवात जैसा हिंदु मुस्लिम का भाईचारा दुनिया में नहीं है। कई गावों के हिंदु समाज के सरपंचो ने भी इस मामले में गहराई से जांच कराने और इंसाफ कि मांग की है।
प्रतिनिधिमंडल में सीपीआईएम के सांसद बदरूदुजा खान, पूर्व राज्य सभा सांसद निलोत्पल बसु और केरल से सांसद पी करूणा करण और सीपीआईएम हरियाणा के सचिव कामरेड इंदरजीत के अलावा आबिद हुसैन बार प्रधन, रमजान चौधरी, नूदीन नूर, मोहम्मद तल्हा, महमूदुल हसन, मुस्ताक, शौकत ऐडवोकेट, वाजिद, ताहिर हुसैन पूर्व प्रधान, सलामुदीन ऐडवोकेट, शमीम ऐडवोकेस के अलावा उमर सहित कई प्रमुख लोग शामिल थे

 

TOPPOPULARRECENT