लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारी के लिए दलित वोटों पर नजर

लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारी के लिए दलित वोटों पर नजर
Click for full image

तिरुवनंतपुरम: केरल विधानसभा चुनाव में एनडीए प्रदर्शन और चुनावी संभावनाओं की समीक्षा करते हुए लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारी के लिए गठबंधन को मजबूत बनाने का जायज़ा लिया गया। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज नेताओं से कहा कि वे दलितों की दिलजोई और समाज के अन्य पिछड़े वर्गों को पार्टी के करीब लाने की कोशिश करें। भाजपा नेताओं की जिम्मेदारी है कि वह अधिक से अधिक सीटें हासिल करने के लिए वोटों के प्रतिशत में वृद्धि सुनिश्चित करें।

अमित शाह यहां राजग की स्टेरनग समिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे और उन्होंने 16 मई को आयोजित विधानसभा चुनाव में राजग सरकार को 15 प्रतिशत वोट मिले हैं और भाजपा ने राज्य विधानसभा में प्रवेश की कोशिश शुरू की है। इस बैठक में भारत धर्म जना सेना सहित सहयोगी दलों के नेताओं ने भाग लिया। चुनाव परिणामों की समीक्षा के बाद और चुनाव राज्य के राजनीतिक हालात पर विचार करते हुए अमित शाह ने एक विशेष हरकयाती योजना बनाने का प्रस्ताव किया ताकि संसद में यहाँ से अधिक से अधिक क्षेत्रों में सफलता प्राप्त की जा सके।

प्रदेश भाजपा नेताओं से बंद कमरे की बैठक में भी नेताओं से आग्रह किया गया कि वह अल्पसंख्यकों, दलितों और अन्य वर्गों के लोगों का दिल जीतने की कोशिश करते हैं और दैनिक आधार पर अल्पसंख्यकों, दलितों की समस्याओं की यकसूई के लिए काम करें।

Top Stories