Thursday , September 20 2018

लोकसभा में तीन-तलाक़ बिल का ओवैसी ने किया विरोध, कहा- ‘यह संविधान के खिलाफ़ है’

नई दिल्ली। लोक सभा में आज मुस्लिम महिलाओ के शादी के अधिकार से संबंधित तीन तलाक विधेयक पेश कर दिया गया। गुरुवार को संसद के निचले सदन लोकसभा में तीन तलाक विधेयक पेश करते हुए कहा कि इस विधेयक के साथ इतिहास लिखा जा रहा है।

मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक 2017 को बीजेडी के भर्तृहरि महताब और एआईएमआईएम के सदस्य असदुद्दीन ओवैसी के विरोध के बाद पेश किया गया। ओवैसी का कहना है कि ये बिल संविधान के ख़िलाफ़ है जबकि आरजेडी की राय में बिल में सज़ा का प्रावधान नहीं होना चाहिए।

इस विधेयक के तहत एक बार में बोलकर, फ़ोन पर, SMS या फिर व्हाट्सऐप के ज़रिये दिया गया तलाक़ अपराध माना जाएगा। विदेयक में इस अपराध पर तीन साल की सज़ा का प्रावधान किया गया है।

ये विधेयक गृहमंत्री राजनाथ सिहं की अध्यक्षता में अंतर-मंत्रालय ग्रुप ने तैयार किया है। ग़ौरतलब है कि इस विधेयक को इसी महीने मंत्रिमंडल ने मंज़ूरी दी है।

TOPPOPULARRECENT