Friday , December 15 2017

लोक पाल बिल की मंज़ूरी के बगै़र यात्राएं बेफ़ैज़ किरण बेदी

लखनऊ 14 सितंबर (पी टी आई) उत्तरप्रदेश असं बली इंतिख़ाबात से क़बल बाज़ सयासी पार्टीयों की जानिब से शुरू की जा रही यात्राओं पर अना हज़ारे टीम की रुकन किरण बेदी ने कहाकि इस तरह की यात्राएं जन लोक पाल बिल की मंज़ूरी के बगै़र बेफ़ैज़ और बेमानी हैं। किरण बेदी ने टेलीफ़ोन पर बात करते हुए बतायाकि यूपी में सयासी पार्टीयों की जानिब से निकाली जा रही यात्राएं मौक़ा पुरसताना हैं। अगर सयासी जमातें अपनी यात्राओं और रिश्वत सतानी पर दिलचस्पी रखती हैं तो उन्हें ये बेहतरीन मौक़ा हासिल है कि वो जन लोक पाल बिल के ताल्लुक़ से अपनी संजीदगी का इज़हार किया। अवाम के लिए भी ये बेहतरीन मौक़ा है कि सयासी पार्टीयों का नब्ज़ टटोलने के लिए उन से बिल की मंज़ूरी का सवाल करें। सयासी पार्टीयों से जवाबतलब किया जाय कि आख़िर वो ये बिल कब मंज़ूर कराईंगी। उन्हों ने कहाकि अगर सयासी पार्टीयां अपने मक़सद और अज़ाइम को हक़ीक़त में साबित करना चाहते हैं तो उन्हें पार्लीमैंट का ख़ुसूसी सैशन तलब करके बिल मंज़ूर कराना होगा। बिल की मंज़ूरी का सहरा तमाम सयासी पार्टीयों के सर जाएगा। बिल की मंज़ूरी के बगै़र यात्राएं निकालने का कोई मतलब नहीं होगा। इंतिख़ाबात के क़रीब बाज़ सयासी पार्टीयां अपने मक़ासिद को रूबा अमल लाने की कोशिश कररहे हैं। समाजवादी पार्टी ने पहले ही क्रांति रथ यात्रा का आग़ाज़ करदिया है जबकि बी जे पी 13 अक्टूबर से जिन सौ अभीमान यात्रा निकालने का मंसूबा रखती ही। अजीत सिंह ज़ेर-ए-क़ियादत आर एलडी भी रियासत के तमाम अज़ला में स्वराज यात्रा निकाल रही है जहां कांग्रेस दलितों के गढ़ पर तवज्जा मर्कूज़ की ही। किरण बेदी ने मज़ीद कहाकि इन यात्राओं के ज़रीया अवाम भी सयासी पार्टीयों के मौक़फ़ को जांच सकते हैं।

TOPPOPULARRECENT