वक़्फ़ बोर्ड की तक़सीम का अमल तकरीबन मुकम्मल, अनक़रीब बाक़ायदा अहकामात

वक़्फ़ बोर्ड की तक़सीम का अमल तकरीबन मुकम्मल, अनक़रीब बाक़ायदा अहकामात
Click for full image

मर्कज़ी वज़ारत अक़लीयती उमूर ने वक़्फ़ बोर्ड की तक़सीम के अमल को तक़रीबन मंज़ूरी दे दी है और तवक़्क़ो है कि बहुत जल्द इस सिलसिले में बाक़ायदा अहकामात जारी किए जाएंगे।

वक़्फ़ बोर्ड की तक़सीम का अमल मुकम्मल होने के बाद बोर्ड के मुलाज़मीन, असासाजात और फंड्स की तक़सीमे अमल में आएगी। तेलंगाना हुकूमत ने मर्कज़ से ख़ाहिश की कि वो बोर्ड की तक़सीम को जल्द से जल्द मंज़ूरी दे ताकि तेलंगाना में बोर्ड की तशकील और ओक़ाफ़ी जायदादों के तहफ़्फ़ुज़ और तरक़्क़ी के इक़दामात में मदद मिले।

तेलंगाना हुकूमत वक़्फ़ बोर्ड की आमदनी में इज़ाफ़ा के लिए शहर और अज़ला में मर्कज़ी मुक़ामात पर मौजूद जायदादों को तरक़्क़ी के लिए ख़ानगी शोबा को लीज़ पर हवाले करने का मन्सूबा रखती है इस तरह वक़्फ़ बोर्ड की आमदनी में ज़बरदस्त इज़ाफ़ा किया जा सकता है।

बोर्ड ने बाअज़ खुली आराज़ीयात और जायदादों की निशानदेही की है जिन्हें ख़ानगी शोबा को डेवलपमेंट के लिए 30 साल की लीज़ पर दिया जा सकता है। बोर्ड के आला ओहदेदारों ने हुकूमत को तजवीज़ पेश की कि लीज़ की मुद्दत 30 साल करते हुए ख़ानगी कंपनीयों को हवाले किया जा सकता है। बोर्ड के मुलाज़मीन की तादाद में इज़ाफ़ा और सर्विस रोल के ताऐयुन के लिए भी हुकूमत से सिफ़ारिश की गई।

Top Stories