Monday , December 11 2017

वक़्फ़ बोर्ड को जायदादों की वापसी के हुकूमत के इक़दाम के ख़िलाफ़

विश्वा हिंदू परिषद ने आज हुकूमत के ख़िलाफ़ इलेक्शन कमीशन में दरख़ास्त की ताकि दिल्ली की 123 सरकारी जायदादों की मिल्कियत दिल्ली वक़्फ़ बोर्ड को वापिस करने का इक़दाम रोका जा सके। वी एच पी ने कहा कि ये इक़दाम इंतेख़ाबी ज़ाबता अख़लाक़ की ख़िला

विश्वा हिंदू परिषद ने आज हुकूमत के ख़िलाफ़ इलेक्शन कमीशन में दरख़ास्त की ताकि दिल्ली की 123 सरकारी जायदादों की मिल्कियत दिल्ली वक़्फ़ बोर्ड को वापिस करने का इक़दाम रोका जा सके। वी एच पी ने कहा कि ये इक़दाम इंतेख़ाबी ज़ाबता अख़लाक़ की ख़िलाफ़वरज़ी है।

इलेक्शन कमीशन को एक याददाश्त पेश करते हुए वी एच पी ने इल्ज़ाम आइद किया कि आलामीया हुसूल अराज़ी से दसतबरदारी इख़तेयार करते हुए जायदादों का क़बज़ा दिल्ली वक़्फ़ बोर्ड को देने के अहकाम , अराज़ी-ओ-तामीरात बोर्ड और डी डी ए को 5 मार्च को जारी किए गए जबकि ज़ाबता अख़लाक़ नाफ़िज़ होचुका था।

याददाश्त में कहा गया है कि वोटों केलिए अक़िलियतों पर इनायात करने की कोशिश की गई है यक़ीनी तौर पर इस कार्रवाई का असर मुरत्तिब होगा। और इंतेख़ाबात के अमल की तख़लीस मस्मूम होजाएगी।ये एक मख़सूस मज़हबी अक़िलियत को तरग़ीब देने की गंदी कार्रवाई है और इंतेख़ाबी ज़ाबता अख़लाक़ के नाफ़िज़ होने के बाद की गई है।

विश्वा हिंदू परिषद ने इस आलामीया पर अमल आवरी मुल्तवी करदेने का मुतालिबा करते हुए कहा कि ज़ाबता अख़लाक़ की ख़िलाफ़वरज़ी केलिए हुकूमत के ख़िलाफ़ कार्रवाई की जानी चाहिए। हुकूमत के इस फ़ैसले से वक़्फ़ बोर्ड को इन जायदादों को अपनी मिल्कियत ज़ाहिर करने यहां तक कि उन्हें फ़रोख़त करदेना का भी इख़तेयार हासिल होजाएगा।

इन जायदादों में से कई क़ौमी दार-उल-हकूमत के अहम मुक़ामात पर वाक़्य हैं। फ़िलहाल शहरी वज़ारत तरक़ियात के तहत इदारा लाडो इन 123 जायदादों का मालिक है। जबकि बाक़ी 42 डी डी ए की मिल्कियत है। बेशतर जायदादें कनॉट पैलेस में या इस के अतराफ़-ओ-अकनाफ़ मथुरा रोड, लोधी रोड, मान सिंह रोड, बंडारा रोड, अशोका रोड, जनपथ, पार्लियामेंट हाउज़, करोलबाग , सदर बाज़ार , दरियागंज और जंग पूरा में वाक़्य हैं।

TOPPOPULARRECENT