Friday , December 15 2017

वक़्फ़ बोर्ड में चीफ़ एग्ज़ीक्युटिव ऑफीसर के तक़र्रुर को रोकने की कोशिश

वक़्फ़ बोर्ड पर वक़्फ़ माफ़िया के कंट्रोल का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि हुकूमत की जानिब से चीफ़ एग्ज़ीक्यूटिव ऑफीसर के तक़र्रुर के बावजूद अभी तक महकमा माल ने ओहदेदार को रीलीव नहीं किया। इस तरह तक़र्रुर के अहकामात को एक हफ़्ता गुज़रने के बावजूद वक़्फ़ बोर्ड के चीफ़ एग्ज़ीक्यूटिव ऑफीसर के ओहदा पर तक़र्रुर कर्दा ओहदेदार ने जायज़ा हासिल नहीं किया।

हुकूमत ने महकमा माल के डिप्टी कलेक्टर मुहम्मद असद उल्लाह को वक़्फ़ बोर्ड का चीफ़ एग्ज़ीक्यूटिव ऑफीसर मुक़र्रर करते हुए 30 जनवरी को अहकामात जारी किए थे। मुहम्मद असद उल्लाह दफ़्तर चीफ़ कमिशनर लैंड एडमिनिस्ट्रेशन में असिसटेंट सेक्रेट्री के ओहदा पर फ़ाइज़ हैं।

सी ई ओ के ओहदा के लिए डिप्टी कलेक्टर रैंक के ओहदेदार की शर्त के बाइस हुकूमत ने महकमा माल से ओहदेदार का इंतिख़ाब किया ता कि ओक़ाफ़ी जायदादों के रिकार्ड को महकमा माल के रिकार्ड से मुताबिक़त पैदा करने में सहूलत हो।

बताया जाता है कि मुस्तक़िल चीफ़ एग्ज़ीक्यूटिव ऑफीसर के तक़र्रुर की सूरत में वक़्फ़ माफ़िया सरगर्मीयों और उन की फाईलों की यक्सूई में रुकावट को महसूस करते हुए माफ़िया सरगर्म हो चुका है।

TOPPOPULARRECENT