Saturday , December 16 2017

वक्फ की जमीन पर चिपकने लगा परचा

कमरा मुहल्ला के शिया तबके के लोगों ने वक्फ स्टेट की जमीन बचाने के लिए वक्फ के मसजिदों में परचा लगाना शुरू कर दिया है। सबसे पहले कमरा मुहल्ला वाकेय मसजिद में परचा लगाया गया। जिसमें मोतवल्ली से वक्फ की जमीन का तफ़सीलात मांगा गया है।

कमरा मुहल्ला के शिया तबके के लोगों ने वक्फ स्टेट की जमीन बचाने के लिए वक्फ के मसजिदों में परचा लगाना शुरू कर दिया है। सबसे पहले कमरा मुहल्ला वाकेय मसजिद में परचा लगाया गया। जिसमें मोतवल्ली से वक्फ की जमीन का तफ़सीलात मांगा गया है। परचे में कहा गया है कि वक्फ की जमीन की तफ़सीलात नहीं देने वाले मोतवल्ली अपनी प्राइवेट जमीन को भी नहीं बेच सकेंगे। ऐसा होता है तो तबके के लोग तहरीक करेंगे।

इमाम सैयद मो काजिम शबीब ने कहा कि कमरा मुहल्ला के बाद हम लोग कोल्हुआ पैगंबरपुर जायेंगे। वहां की वक्फ की जमीन का भी हिसाब नहीं मिल रहा है। वहां भी परचा लगायेंगे। हमलोग मोतवल्ली से दरख्वास्त कर रहे हैं कि वे वक्फ की जमीन का तफ़सीलात मसजिद में चिपका दे ताकि लोगों को वक्फ की जमीन का पता चल सके, नहीं तो प्राइवेट जमीन भी नहीं बेचने देंगे।

लोकल कमेटी या डीएम को दें किराया

अखाड़ाघाट कब्रिस्तान की जमीन पर चल रहे 24 दुकानों का किराया मो तकी खां वक्फ की लोकल कमेटी को दिया जाये। दुकानदार चाहे तो वे जिला इंतेजामिया को किराया दे सकते हैं। यह जानकारी मौलाना सैयद काजिम शबीब ने दी। कहा, इसके लिए दुकानदारों के साथ बैठक की गयी है। दुकानदारों ने इसके लिए वक्त लिया है। मौलाना शबीब ने कहा कि वे इस मामले में डीएम से बात करेंगे। वक्फ लॉ के मुताबिक किराया लोकल कमेटी को जाना चाहिए या डीएम अपने स्तर से इसकी मॉनीटरिंग करें।

TOPPOPULARRECENT