Tuesday , December 19 2017

वक्फ बोर्ड ने दबाव दिया तो होगा तहरीक

शिया वक्फ बोर्ड ने गोला रोड वाकेय अखाड़ाघाट कब्रिस्तान की जमीन पर चल रहे दुकानदारों से किराये के मामले में वक्फ बोर्ड व मो तकी खां वक्फ स्टेट की जमीन की लड़ाई लड़ रहे सैकड़ों लोग तहरीक करेंगे।

शिया वक्फ बोर्ड ने गोला रोड वाकेय अखाड़ाघाट कब्रिस्तान की जमीन पर चल रहे दुकानदारों से किराये के मामले में वक्फ बोर्ड व मो तकी खां वक्फ स्टेट की जमीन की लड़ाई लड़ रहे सैकड़ों लोग तहरीक करेंगे।

इमाम सैयद काजिम शबीब कहते हैं कि कब्रिस्तान की जमीन पर 24 दुकानें चल रही हैं। जिसका किराया वक्फ बोर्ड के इंतेजामिया आरिफ रजा वसूलते हैं। जबकि लॉ के मुताबिक यह लोकल कमेटी के जिम्मे है। दुकानदारों की तरफ से दिये जा रहे किराये का कोई हिसाब नहीं है। दुकानदारों से इस बारे में बात चीत की गयी है।

उन्होंने कहा कि दो-तीन दिन के अंदर वे लोग फैसला लेंगे। इमाम ने कहा कि कब्रिस्तान का हिसाब रखने के लिए यहां की आवाम की तरफ से डॉ शफी हसन व फैयाज औलाद अली को इंतेजामी बनाया गया है। यहां के दुकानदार वक्फ स्टेट को किराया देंगे तो उसकी रसीद दी जायेगी। इमाम ने कहा कि बाद में डीएम से बातचीत कर इसका एक अलग एकाउंट भी खुलेगा। उन्होंने बताया कि पहले कब्रिस्तान की करीब चार बीघा जमीन थी, अब यह एक बीघा रह गयी है। वक्फ बोर्ड के आला अफसरों की मिलीभगत से यह खेल हो रहा है। उन्होंने कहा कि आरिफ रजा के खिलाफ बोर्ड के चेयरमैन से कई बार शिकायत की गयी है, लेकिन चेयरमैन ने उन्हें आज तक नहीं हटाया। सूबे के शिया तबके के लोग इस मामले में एक है। चेयरमैन जल्दी फैसला नहीं करते तो बड़ा तहरीक होगा।

TOPPOPULARRECENT