वज़ीर-ए-अक़लीयती बहबूद का ख़ौरमक़दम

वज़ीर-ए-अक़लीयती बहबूद का ख़ौरमक़दम

रियास्ती वज़ीर-ए-अक़लीयती बहबूद, वक़्फ़-ओ-उर्दू एकेडेमी जनाब मुहम्मद अहमदुल्लाह ने दरगाह हज़रत हुसैन शाह वली (र) की वक़्फ़ जायदाद के ताल्लुक़ से आन्ध्र प्रदेश हाईकोर्ट डीवीझ़न बंच के फ़ैसला का ख़ौरमक़दम करते हुए ख़ुशी का इज़ह

रियास्ती वज़ीर-ए-अक़लीयती बहबूद, वक़्फ़-ओ-उर्दू एकेडेमी जनाब मुहम्मद अहमदुल्लाह ने दरगाह हज़रत हुसैन शाह वली (र) की वक़्फ़ जायदाद के ताल्लुक़ से आन्ध्र प्रदेश हाईकोर्ट डीवीझ़न बंच के फ़ैसला का ख़ौरमक़दम करते हुए ख़ुशी का इज़हार किया। उन्हों ने कहा कि महिकमा अक़ल्लीयती बहबूद रियासत भर में वक़्फ़ जायदादों के तहफ़्फ़ुज़ केलिए ज़रूरी इक़दामात करेगा।

उन्हों ने बताया कि रियास्ती वक़्फ़ ट्रब्यूनल के जारी करदा हुक्मनामा पर अमल आवरी केलिए तमाम मुताल्लिक़ीन को ज़रूरी हिदायात जारी की गई हैं। इस हुक्मनामा के तहत ट्रब्यूनल ने मज़कूरा वक़्फ़ अराज़ी की फ़रोख़त , लीज़, मुंतक़ली पर हुक्म इलतवा आइद किया है।

Top Stories