Thursday , December 14 2017

वज़ीर-ए-आज़म के दौरा थाईलैंड का मक़सद दिफ़ाई शराकतदारी

बैंकाक 23 मई: हिन्दुस्तान और थाईलैंड के ताल्लुक़ात को आज ज़ियादा तक़वियत मिली जबके वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह आइन्दा हफ़्ते से थाईलैंड का दौरा करने वाले है लेकिन आज़ादाना तिजारत मुआहिदा आज़ादाना तिजारत मुआहिदा पर इमकान हैके दस्त

बैंकाक 23 मई: हिन्दुस्तान और थाईलैंड के ताल्लुक़ात को आज ज़ियादा तक़वियत मिली जबके वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह आइन्दा हफ़्ते से थाईलैंड का दौरा करने वाले है लेकिन आज़ादाना तिजारत मुआहिदा आज़ादाना तिजारत मुआहिदा पर इमकान हैके दस्तख़त नहीं होंगे।

ताहम हिन्दुस्तान और थाईलैंड तहवील मुजरिमीन मुआहिदा की तौसीक़ करेंगे। थाईलैंड और हिन्दुस्तान वुज़राए आज़म की मुलाक़ात से दोनों ममालिक की बाहमी ताल्लुक़ात को दिफ़ाई शराकतदारी की सतह तक लाने की शदीद ख़ाहिश का इज़हार होता है।

पिछ्ले साल जमहूरीयत की मुशतर्का इक़दार, इंसानी हुक़ूक़ के एहतेराम और पायदार शरह तरक़्क़ी फ़रोग़ देने के मुशतर्का मुफ़ादात की बुनियाद पर दिफ़ाई शराकतदारी मुआहिदा करने का मंसूबा बनिया गया था।

वज़ारत-ए-ख़ारजा थाईलैंड ने अपने बयान में कहा कि दोनों ममालिक के दरमयान आला सतही बाहमी तबादलों से ज़ाहिर होता हैके ईलैंड की मग़रिब की जानिब देखो पालिसी और हिन्दुसतान की मशरिक़ की तरफ देखो पालिसी के बावजूद दोनों ममालिक के ताल्लुक़ात में इस्तिहकाम पैदा होरहा है। वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह 30 मई से थाईलैंड के दो रोज़ा दौरा पर आयेंगे।

TOPPOPULARRECENT