Monday , December 18 2017

वज़ीर-ए-आज़म 5 अरब के लिए तौहीन अदालत के मुर्तक़िब

कराची 14 फरवरी (एजैंसीज़) तहिरीक-ए-इंसाफ़ के सरबराह इमरान ख़ान ने कहा है कि वज़ीर-ए-आज़म 5अरब बचाने केलिए तौहीन अदालत कर रहे हैं, उन के पास वज़ीर-ए-आज़म रहने का अख़लाक़ी जवाज़ ख़तम होगया है। उन्हों ने कहा कि वो सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसल

कराची 14 फरवरी (एजैंसीज़) तहिरीक-ए-इंसाफ़ के सरबराह इमरान ख़ान ने कहा है कि वज़ीर-ए-आज़म 5अरब बचाने केलिए तौहीन अदालत कर रहे हैं, उन के पास वज़ीर-ए-आज़म रहने का अख़लाक़ी जवाज़ ख़तम होगया है। उन्हों ने कहा कि वो सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले की ताईद करेंगे और जोभी वज़ीर-ए-आज़म होगा इस पर लाज़िम होगा कि सोइस हुक्काम को मकतूब रवाना करे।

कराची में मुस्लिम लीग (नवाज़) कराची के रहनुमा हफ़ीज़उद्दीन की साथीयों साथ तहिरीक-ए-इंसाफ़ में शमूलीयत के मौक़ा पर ज़राए इबलाग़ से गुफ़्तगु करते हुए इमरान ख़ान ने कहा कि वज़ीर-ए-आज़म को अस्तीफ़ा दे देना चाहिए। उन्हों ने कहा कि सोइस बैंक्स में जमा 5अरब बचाने के लिए वज़ीर-ए-आज़म तौहीनअदालत कररहे हैं।

तमाम क़ैदीयों की चोरी की हुई जुमला रक़म सोइस बैंक में ज़रदारी की रक़म से कम ही होगी। इमरान ख़ान का कहना था कि तहिरीक-ए-इंसाफ़ का किसी जमात से इत्तिहाद नहीं होगी। तहिरीक-ए-इंसाफ़ अकेले ही आम इंतिख़ाबात की तैय्यारी कररही है।

इस मौक़ा पर रहनुमा तहिरीक-ए-इंसाफ़ जावेद हाश्मी का कहना था कि दिफ़ा पाकिस्तान कौंसल का नाम मैंने तजवीज़ किया था और दिफ़ा पाकिस्तान के प्लेटफार्म पर जाकर अपनी पार्टी का मौक़िफ़ पेश करने में कोई मज़ाइक़ा नहीं।

TOPPOPULARRECENT